लॉकडाउन में 3 दिन पैदल चली 12 साल की बच्ची, घर पहुँचने से थोड़ी देर पहले हो गया ऐसा

0
5895

आज पूरा देश कही न कही बंद पड़ा है और परेशानियों में फंसा हुआ है जो कि अपने आप में काफी अधिक चिंता से भरा हुआ समय ही है और ऐसे वक्त में जिनके पास थोडा पैसा है और घर आदि है वो लोग तो अपने सुरक्षित है लेकिन सबसे खराब हालत इन दिनों में गरीब की हो रही है जिसके पास में अपने लिए कुछ भी नही है. अब इतना तो हम सब लोग जानते ही है और हालातो से कोई भी दूर नही है.

इसी का शिकार एक 12 साल की मासूम भी हो गयी जिसका नाम जमलो था. बच्ची की उम्र सिर्फ 12 साल थी लेकिन हालातो के चलते हुए वो तेलंगाना के खेतो में लोगो के साथ में काम करने के लिए जाती थी. गरीबी भला के न करवाए? अब जब लॉक डाउन हुआ तो कुछ वक्त तो उन्होंने सह लिया लेकिन जब फिर से इसे बढ़ा दिया गया और पता चला कि अब भी बस नही चलेगी तो इससे तकलीफ में आकर के कई लोगो ने अपने घर की तरफ चलने का निर्णय लिया.

ऐसे में सबके साथ वो 12 साल की बच्ची भी अपने घर की तरफ गाँव की तरफ चल पड़ी. लगातार वो लोग तीन दिनों तक चले और अब जब बच्ची का घर उसका गाँव उससे लगभग घंटे भर की ही दूरी पर था तो वो अचानक से बेहोश होकर के नीचे गिर पड़ी. बाद में पता चला कि उसकी जान ही जा चुकी है,

उसके पेट में दिक्कत हो रही थी फिर भी वो चले जा रही थी ऐसा उसके साथ में चलने वाले लोग बताते है. इस करोना के कहर ने एक मासूम सी बच्ची को निगल लिया जिसकी तो कोई गलती भी नही थी और उस मासूम को तो इस बीमारी का नाम भी शायद ढंग से पता न होगा जिसके चलते ये सब हुआ.