सरकारी कर्मचारियों के लिये आयी बुरी खबर, सरकार ने लिया बड़ा फैसला

0
15485

इन दिनों देश में जिस तरह के हालात बने है वो अपने आप में चिंता का कारण बने हुए है और करोना के कारण लोगो के व्यापार बंद हो गये है, नौकरियाँ जा रही है, सरकार का खजाना खाली होताती जा रहा है और अर्थव्यवस्था की कमर भी टूट ही जा रही है जो कि अपने आप में चिंता का विषय तो है ही इस बात मे तो कोई भी संशय नही है. ऐसे में इसका बुरा प्रभाव सरकारी कर्मचारियों पर भी पड़ेगा ये तो किसी ने भी नही सोचा होगा मगर ऐसा हो गया है.

दरअसल सरकार काफी घाटे में जा रही है और इसी स्थिति के चलते हुए सरकार ने केन्द्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 1 जनवरी 2020 से लेकर 1 जुलाई 2021 तक के लिए फ्रीज कर दिया गया है. उनके अलावा जो लोग पेंशन ले रहे है या फिर यूँ कहे जो लोग पेंशन धारी है उन्हें मिलने वाले भत्ते की भी यही स्थिति ही रहने वाली है.

एक रिपोर्ट के अनुसार सरकार को इससे लगभग 37500 करोड़ रूपये की बचत होने जा रही है जो कि एक अच्छा खासा अमाउंट कहा जा सकता है. यानी इसका मतलब ये समझा जाए कि केन्द्रीय कर्मचारियों को अगला डीए 1 जुलाई 2021 के बाद में ही मिलने वाला है. अगर केंद्र के बाद में सारी राज्य सरकारे भी इसी तरह से डीए को रोकती है तो कुल मिलाकर के सरकारो को 1.20 लाख करोड़ से भी ज्यादा की बचत हो सकती है

और ये पैसा करोना के कारण नुकसान में पहुँच अर्थव्यवस्था को खड़ा करने में काफी ज्यादा मददगार साबित हो सकता है. हालांकि सरकारी कर्मचारी इस गनीमत में है कि कम से कम ऐसे वक्त में भी उनकी नौकरी तो सुरक्षित है. प्राइवेट सेक्टर तो पूरी तरह से हिल डुल चुका है और लोगो की जॉब्स तक बुरी तरह से जा रही है जो चिंता पैदा करता है.