हजारो बच्चो को संक्रमण से बचा रही है ये महिला आईपीएस ऑफिसर, अपने बच्चे से रहना पड़ता है दूर

0
931

देश भर लोग पुलिस के जवानो को सलाम कर रहे है क्योंकि वो अपने घर परिवार को छोडकर के कही न कही देश की सेवा मे लगे हुए है और इस बात से फर्क नही पड़ता कि भविष्य में क्या होगा? वो तो बस देश की सेवा कर रहे है और उसका ही एक उदाहरण है पुलिस ऑफिसर अलका मीणा. अलका मीणा एक आईपीएस ऑफिसर है और वो पंजाब के नवाशहर में पोस्टेड है.

उन्हें इस मदर्स डे पर सम्मानित किया गया था क्योंकि आज की डेट में वो जो कर रही है वो हरक इसी के बस का नही है. आईपीएस ऑफिसर अलका मीणा की ड्यूटी शहर भर के बच्चो की जिन्दगी की सुरक्षा करना है. शहर भर में ऐसे कई बच्चे है जिन्हें खाने पीने की सामग्री चाहिए होती है तो उन तक सामान पहुंचाने की जिम्मेदारी अलका मीणा की होती है. ये सब वो तब कर रही है जब उनके पास अपना परिवार है और उनका अपना बेटा आयान भी है.

आईपीएस ऑफिसर अलका मीणा के बेटे आयान की उम्र अभी सिर्फ 5 साल है और क्योंकि अलका मीणा ऐसे वक्त में ड्यूटी कर रही है जहाँ संक्रमण का सबसे अधिक खतरा पुलिस के लोगो को ही होता है तो वो ड्यूटी के कारण अपने बेटे को गले तक नही लगा सकती है बस दूर से देख सकती है.

एक माँ का इससे बड़ा त्याग और बलिदान भला और कैसे हो सकता है? वाकई में ऐसे ही पुलिस ऑफिसर्स की वजह से आज देश में लॉ एंड आर्डर की स्थिति मेंटेन हो रखी है. उन्हें इस मदर्स डे पर इसी कारण से सम्मानित किया गया और देश भर में और भी कई लोग है जो सम्मानित जगह जगह पर हो रहे है जो इस बुरे वक्त में हीरो बनाकर के उभरे है और कही न कही उनका काम करने का तरीका भी हीरोइक है.