एमपी में शिवराज और सिंधिया ने दिया कांग्रेस को झटका, फिर फंसे कमलनाथ

0
309

मध्य प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया की एंट्री के बाद से ही दोनों ही पार्टियों बीजेपी और कांग्रेस के बीच में जो राज्य स्तर का संतुलन था वो पूरी तरह से गड़बड़ा गया और लगातार भाजपा मजबूत होती जा रही है जिससे शिवराज सिंह चौहान की गद्दी मजबूत हो रही है इस बात में कोई दो राय नही है. अब हाल की ही घटना ले लीजिए जिसने एक बार फिर से कांग्रेस के पैरो तले से जमीन ही खिसका दी है. पूरा केस असल में क्या है ये हम आपको बताते है.

दरअसल हाल ही में मध्य प्रदेश में उपचुनाव होने जा रहे है और इससे ठीक पहले बीजेपी ने बाजी मार ली है. हाल ही में मध्य प्रदेश के रायसेन में एक काफी बड़ा प्रोग्राम हुआ जिसमे एक साथ 200 कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बीजेपी की सदस्यता ले ली जो अपने आप में उनकी पार्टी के लिए एक झटके की तरह ही है.

इस कार्य्रकम में खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद थे तो आप इससे समझ सकते है कि इसके मायने असल में कितने बड़े है. उपचुनाव से ठीक पहले इतने बड़ी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का पार्टी छोडकर के बीजेपी का दामन थाम लेना बताता है कि कांग्रेस पूरी तरह से दिशाहीन होती जा रही है जबकि बीजेपी एक के बाद एक बाजी ले जा रही है और इसके पीछे का कारण कही न कही सिंधिया का अचानक से बीजेपी को ऐसी बैकिंग देना है

जो उनको दिगिविजय और कमलनाथ जैसे नेताओं का तोड़ निकालने में मदद करती है. हालांकि उपचुनाव के नतीजो की अपेक्षा इससे करना ठीक नही होगा. जल्द ही ये होंगे तब सब पता लग ही जायेगा बाकी शिवराज जिस तरह से अपनी पूरी ताकत झोंक रहे है उससे एक बात तो तय हो जाती है कि उनको कोई ख़ास दिक्कत होने वाली नही है.