भारत को लॉकडाउन के बीच हुआ इतना बड़ा फायदा, जो किसी ने सोचा भी नही था

0
433

आज देश लॉकडाउन के दौर से निकल रहा है और लोग इसके कारण त्रस्त से हो गये है क्योंकि आम लोगो की हालत तो खस्ता ही हो गयी है. दो महीने से कुछ काम नही था और बहुतो की इनकम तो खत्म सी ही हो गयी. कईयो के व्यापार ठप्प हो गये और लोगो की हालत खराब हो गयी. अब ऐसे में सब लोग जानते है कि हालत तो खराब हुई है मगर एक चीज है जो इसमें अच्छी हुई है और वो है भारत ने अपनी आत्मनिर्भरता को एक बार फिर से पहचान लिया.

भारत में महज दो महीनो के इतिहास में एक पूरे 10 हजार करोड़ रूपये की इंडस्ट्री खड़ी हो गयी जो पीपीई किट्स और मास्क का निर्माण करती है. पहले भारत में न के बराबर पीपीई किट्स आदि बनते थे लेकिन दो महीने की जरूरत में जब कही से भी सप्लाई नही मिली तो फिर भारत ने इस पर अपने ही लेवल पर काम शुरू किया और महज दो महीनो की मेहनत में आज भारत में हर रोज चार लाख से ज्यादा पीपीई किट्स और इससे कई ज्यादा मास्क बन जाते है.

एक्सपर्ट्स मानते है कि ये इंडस्ट्री आने वाले वक्त में 50 हजार करोड़ से भी ज्यादा का कारोबार करेगी और भारत दुनिया को ये प्रोडक्ट्स एक्सपोर्ट करेगा. ये कही न कही चीन के लिए चुनौती पेश करता है कि अगर भारत चाहे तो कई ऐसी इंडस्ट्रीज है

जिनमे चीन को बुरी तरह से पछाड़ कर के उनमे नम्बर वन बन सकता है क्योंकि यहाँ पर आज की डेट में सस्ती लेबर और जमीन उपलब्ध है और सरकारे भी सपोर्टिव है जो अपने आप में एक बड़े लेवल पर बिज्नेसेज को सपोर्ट करना चाह रही है मगर कोई करे तो सही. खैर जो भी है इस वक्त में हमको एक बात तो समझ में आती है कि भारत आत्मनिर्भर बन सकता है.