खुदको अखबार के फ्रंट पेज पर मुख्यमंत्री पद का दावेदार बताती है, कौन है नीतीश को चुनौती देने वाली ये महिला

0
954

वैसे बिहार की राजनीति में कुछ एक नाम ही है जो हमेशा से ही चलते आये है और चलते भी रहेंगे. चाहे वो लालू हो, नीतीश हो या फिर सुशील मोदी हो. अब इनको मुख्य तौर पर चेलेंज करने की कोशिश कोई करता नही है लेकिन अगर आप ऐसा सोचते है कि ऐसा करने की हिम्मत किसी में भी नही है तो आपको शायद गलत लगेगा क्योंकि एक नेता है जो ऐसा अभी से नही बल्कि काफी वक्त से कर रही है और उनका नाम है पुष्पम प्रिया चौधरी. वो बिहार की राजनीति में एक नया और काफी ज्यादा रोचक नाम है.

पुष्पम प्रिया चौधरी विदेश से वापिस लौटी है और वापिस आने के बाद में उन्होंने सोचा है कि बिहार में जो पुराने टाइप की राजनीति होती है उसे बदल दिया जाए. इसी सोच के साथ में उन्होंने अपनी प्लूरल्स पार्टी बनाई और उसके काफी सारे सदस्य बनाये.

उन्होंने अखबार में काफी बड़े बड़े फ्रंट पेज पर विज्ञापन दिये और खुदको बिहार के मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बताया और नीतीश कुमार को एक तरह से सीधे तौर पर चुनौती देने की कोशिश की. कही न कही पुष्पम प्रिया चौधरी जाति धर्म और बाकी मुद्दों से हटकर के मॉडर्न मुद्दों पर राजनीति को लाना चाह रही है लेकिन वो संसाधनों की कमी के चलते हुए इतना अधिक इनमे सफल हो नही सकी है.

अब इन दिनों में भी वो काफी ज्यादा चर्चा में रही है क्योंकि लॉकडाउन के बाद में वो काफी ज्यादा सक्रिय दिखाई दी. वो मदद के लिए काम कर रही है और नीतीश कुमार पर भी काफी ज्यादा आरोप लगा रही है. यही नही वो नीतीश कुमार के आवास तक भी पहुँच गयी थी. कही न कही पुष्पम प्रिया एक उभरता हुआ नाम है जो शायद मॉडर्न राजनीति को फॉलो करने वालो के लिए एक विकल्प साबित हो रही है जिनकी संख्या बड़ी नही है लेकिन कुछ तो है.