अगर पति पत्नी को मायके वालो से मिलने न दे, तो हो सकती है इतनी लम्बी सजा

0
1512

आम तौर पर आपको भी मालूम होगा कि पति और पत्नी का रिश्ता आपसी समझ के जरिये चलता है और कही न कही ये रिश्ता तब तक ही सही रहता है जब तक आपस में समझ हो मगर कई बार पति काफी अधिक गुस्सैल किस्म के निकल आते है जिसके कारण पत्नियों का जीना ही दूभर सा हो जाता है और वो फिर दिक्कत वाली जिन्दगी भी जीने को मजबूर रहती है. कई केसेज में ऐसा भी देखा गया है कि पति अपनी पत्नी को मायके वालो से माँ बाप से मिलने नही देता है.

अगर आपको लगता है कि ये छोटा सा घरेलू मसला है तो आप इसे गलत समझ रहे है क्योंकि अगर कोई पति ऐसा कर रहा है तो वो बेहद ही गंभीर अपराध कर रहा है. इसके बारे में आईपीसी की धारा 365 में बहुत ही अच्छे से बता रखा है कि ये एक अपराध की श्रेणी में आता है.

यानी कि अगर कोई स्त्री अपने ससुराल में रहती है और बलपूर्वक पति या फिर ससुराल वाले उसे कही छुपा देते है ताकि वो अपने घर वालो से न मिल पाए तो ये धारा 365 की श्रेणी में आता है और अगर लड़की ये गवाही देकर के साबित कर देती है कि हाँ उन्होंने मेरे साथ में ऐसा किया है तो फिर इसमें सात साल तक की सजा का भी प्रावधान किया गया है और ये कोई छोटी बात नही है. इसलिए पति को जरा सोच समझकर के अपनी पत्नी पर बल प्रयोग करने के बारे में सोचना चाहिए.

कही न कही ये अपने आप में काफी अधिक गंभीर बात होती है और लोग भी इस पर अपनी अपनी तरह से प्रतिक्रिया देते है. कुछ लोगो को तो ये भी लगता है कि इसका दुरूपयोग किया जा रहा है तो कई लोगो को लगता है कि ये महिलाओं की सुरक्षा के लिए जरूरी है.