अब शरद पवार ने शिवसेना को बीच रास्ते छोड़ा, कही ये बड़ी बात

0
233

अभी हाल ही में किस तरह से हम लोगो ने देखा है कि महाराष्ट्र की राजनीति में बहुत ही अधिक और बड़े स्तर पर बदलाव देखने को मिले है और ये बदलाव किसी को भी हैरान करने वाले थे कि पहले तो शिवसेना एक लड़की यानी कंगना से जाकर के भिड गयी जिसके बाद आपस में ज़ुबानी जंग हुई और फिर कंगना के दफ्तर को गिरा दिया गया और इसका दबाव कही न कही शिवसेना के साथी दलों पर भी आया क्योंकि आखिर वो भी तो सरकार में उनके साथ है तो सवाल तो उठने ही थे.

अब शरद पवार पर इसे लेकर के जब लगातार सवाल उठे तो उन्होंने इस पर जवाब देते हुए सीधे तौर पर कहा कि उनकी नजर में ये गैर जरूरी था और इसे गैर जरूरी तरीके से पब्लिसिटी दे दी गयी है, कही न कही यही पर ही उन्होंने शिवसेना का साथ इस मुद्दे पर छोड़ दिया जो सामना में उखाड़ दिया कहकर के डंका बजा रही थी.

बात यही पर ही नही रूकती है बल्कि बाद में शरद पवार ने ये तक कह दिया कि ये जो भी हुआ है वो बीएमसी ने किया है और सरकार का इससे कोई भी लेना देना ही नही है जिसमे हम है. यानी बीएमसी जिसमे शिवसेना है उनका ये करना हुआ जबकि सरकार जिसमे हम शिवसेना के साथ गठबंधन में है वो इससे कोई भी मतलब नही रखती है. यानी इस मुद्दे पर शरद पवार ने कही न कही सीधे तौर पर उद्धव ठाकरे से पल्ला ही झाड लिया है.

ये अपने आप में एक बात को स्पष्ट कर दे रहा है कि शिवसेना और एनसीपी के बीच में इन मुद्दो को लेकर के सहमती तो अभी भी नही है और चीजे किस समय बिगड़ जाए और क्या कुछ कब देखने को मिल जाए कोई भी कुछ कह नही सकता है.