नवरात्रि में सातवे दिन इस तरह करे माँ कालरात्रि की पूजा, शत्रुओ का होगा नाश बीमारियाँ होगी दूर

0
549

आज नवरात्रि का सातवा दिन है और ये अपने आप में काफी महत्त्वपूर्ण दिन है क्योंकि आज के दिन माँ के रौद्र रूप यानी माँ कालरात्री की पूजा की जाती है और जब इस पूजन के बारे में हम लोग बात करते है तो ये पूजन वाकई में काफी अधिक महत्त्वपूर्ण है. सबसे ख़ास बात ये है कि अगर आप माँ को प्रसन्न करना चाहते है तो आपको आज के दिन फलाहार वाला व्रत तो रखना ही चाहिए क्योंकि इससे आपके अन्दर तामसिक गुण नही आते है और यही पूजा की सबसे पहली सीढी भी है.

इसके बाद में अगर हम लोग बात करे पूजा विधि की तो माँ कालरात्रि की पूजा के लिए सुबह सुबह ही नहा धोकर के बैठ जाए और फिर उन्हें अक्षत, धूप, नैवेध्य और गुड़ श्रद्धा के साथ में अर्पित करे, इसके बाद में आप उनकी आरती भी कर सके, माँ कालरात्री की आरती पूरे परिवार के साथ में ही की जानी चाहिए.

इस आरती के किये जाने के बाद में या फिर पहले आप उनको रातरानी का पुष्प जरुर चढ़ाए. माना जाता है कि उनको ये फूल बड़ा ही प्रिय है और इस कारण से अगर आप उनको ये पुष्प चढाते है तो आपकी मनोकामना भी वो पूरी करती है. माँ कालरात्रि का प्रिय रंग लाल है इसलिए आज के दिन हो सके तो लाल रंग पहने और संभव हो तो लाल रंग की धोती पहनकर के ही पूजन में शामिल हो. इसके बाद में आज के दिन ब्राह्मण और गाय को दान करना अति शुभ माना गया है.

ऐसा करने से आपके पापो की समाप्ति होती है, आप जो भी अपने जीवन में प्राप्त करना चाह रहे है वो आपको प्राप्त होता है और आपके शत्रु भी समाप्त हो जाते है जो आपको जीवन में आगे बढ़ने में सहायता देता है. माँ कालरात्रि बड़ी से बड़ी बीमारी का भी सर्वनाश कर देती है.