बेटी ने ले ली अपने ही पिता की जान, फिर बोली मुझे कोई अफ़सोस नही उसने मेरे साथ…

0
962

एक पिता और बेटी का सम्बन्ध बहुत ही अधिक प्रेम और सम्मान से भरा हुआ माना जाता है और हर कोई इसका सम्मान ह्रदय से करता है इस बात को तो आप भी बखूबी मानते ही होंगे और अधिकतर लोग इस बात को मानते है. मगर अक्सर ये चीज कुछ लोगो के साथ में लागू नही होती है और वो इस  रिश्ते को भी दाग लगा देते है. ये पूरी घटना भोपाल के खाजूरिया नाम के गाँव की है जहां पर एक भंवरलाल नाम का आदमी अपनी बीवी और अपनी बेटी के साथ में छोटे से मकान में रहता था.

भंवरलाल को एक से एक बुरी आदते थी. वो शराब पीता था, गाँव में गलत हरकते करता था, झूठी शिकायते करता था और घर में आकर के भी बीवी की पिटाई कर देता था. गाँव के लोग उससे बहुत ही ज्यादा परेशान रहने लगे थे यही नही माँ बेटी भी परेशान थे.

अब नवरात्रि के सीजन की ही बात है जब देर रात को भंवरलाल शराब पीकर के घर में आया और बीवी से कहने लगा कि वो उसके लिए चिकन बनाए पर बीवी ने उसे मना कर दिया कि अभी नवरात्रि चल रही है. ये सुनकर के उसने बीवी की पिटाई शरू कर दी और बेटी पर भी ऐसा ही कुछ करने लगा जिससे नाराज होकर के बेटी ने घर में पड़ी मोगरी पिता के सर पर दे दी जिससे उसका सर घूमा और वो नीचे गया.

भंवरलाल की मौके पर ही जान चली गयी. लडकी की उम्र अभी महज 16 साल ही है और वो कहती है कि उसने जो किया उसे उस पर कोई भी अफ़सोस नही है. उसका पिता ये डिजर्व करता था उसने उनकी जिन्दगी खराब कर रखी थी. पुलिस ने लडकी को किशोर सुधार गृह में भेज दिया है यहाँ पर बच्ची की कौंसिलिंग की जायेगी.