सुप्रीम कोर्ट ने दिया मोदी सरकार को सख्त निर्देश, तुरंत ये काम करने को कहा

0
272

दिल्ली में प्रदूषण और स्मोग की समस्या इन कुछ महीनो में बहुत ही ज्यादा बढ़ जाती है और इसके कारण हाल इतने बुरे हो जा रहे है कि इसके कारण बहुत से लोगो का सामान्य जीवन भी जी पाना संभव नही हो पा रहा है और ये बात हर किसी को अच्छे से समझ में भी आती है. प्रदूषण के कारण न सिर्फ लोग काम नही कर पा रहे है बल्कि साथ ही साथ में लोगो की उम्र पर भी असर पड़ रहा है जो साफ़ तौर पर नजर भी आने लग गया है. इस पूरी घटना पर सुप्रीम कोर्ट ने अपनी तरफ से काफी अधिक चिंता व्यक्त की है.

सुप्रीम कोर्ट की एक बेंच ने एक मामले को दिवाली के बाद तक के लिए स्थगित करते हुए कहा कि हम मामले को फिर से खोलने के बाद तक के लिए स्थगित कर रहे है. तब तक आप ये यानी केंद्र ये सुनिश्चित करे कि शहर में कोई भी स्मोग न हो.

ये निर्देश सुप्रीम कोर्ट ने तब दिया है जब पहले ही सुप्रीम कोर्ट में प्रदूषण को लेकर के समास्या को लेकर के जनहित याचिका पर सुनवाई चल रही है और इस पर सुप्रीम कोर्ट का रवैया काफी सख्त है क्योंकि फ़िलहाल एनसीआर में लगभग दो करोड़ से भी ज्यादा लोग संभावित तौर पर रह रहे है और ऐसे वक्त में इन लोगो की सुरक्षा और स्वास्थ्य का ख्याल रखना सरकारों का काम है जिसमे अभी के परिपेक्ष में देखे तो वो काफी हद तक फेल ही नजर आ रही है.

ऐसे में अब सरकार इतने कम समय में कैसे ये सब कुछ करे ये उनके लिए सवाल है क्योंकि इतने कम समय में ऐसा कुछ हो पाना देश के इन्फ्रा के अनुसार बड़ा ही मुश्किल है लेकिन फिर भी सरकार कोशिश तो करेगी क्योंकि सुप्रीम कोर्ट का निर्देश आया है.