बेटो ने बूढ़े माँ बाप को अपने घर से बाहर निकाल दिया, 15 साल बाद पिता ने लिया ऐसा बदला

0
2366

एक पिता अपने बच्चो को जैसे तैसे करके बड़ी ही मुश्किल से बड़ा करता है और किसी तरह से उसके लिए सम्पति भी जोड़ता है उसे अगर बच्चे बड़े होकर के धुत्कारने लगे तो फिर कैसा हो? पिता अकेला पड़ जाता है लेकिन ऐसा भी नही है कि वो असहाय हो जाता है और आज हम आपको जिस घटना के बारे में बताने जा रहे है वो आपको और हमें इसी बारे में सबक भी देते हुए नजर आती है. चलिए फिर इसके बारे में जानते है जहाँ पर बच्चो को सबक देना जरूरी हो गया था.

ये पूरा मामला चिखली का है जहाँ पर रहने वाले हीरालाल ने कई वर्षो पहले एक जमीन ली थी और सोचा था बूढ़े हो जायेंगे तब वो अपने बच्चो के साथ मिलकर के उस जमीन पर एक घर बनायेंगे और वहां पर सुख से पोतो के साथ रहेंगे लेकिन जब उनके बेटे बड़े हुए तो उन्होंने उल्टा ही किया.

उन्होंने अपने पिता को अपनी ही जमीन से निकाल दिया और उनकी जमीन पर मकान बनाकर के रहने लग गये. हीरालाल अपनी पत्नी के साथ में 15 वर्षो तक झोंपड़ी में घर बनाकर के रहे और जैसे तैसे वक्त काटा मगर हर किसी का सब्र एक न एक दिन जवाब दे जाता है. जिसके चलते हुए उन्होंने आखिरकार पुलिस में जाकर के अपने बच्चो के खिलाफ केस दर्ज करवाया जिन्होंने गैर कानूनी रूप से उनकी जमीन पर कब्जा कर रखा था. पुलिस ने उन सभी को हिरासत में ले लिया है और जमीन उनको वापिस दिला दी गयी है.

कही न कही ये चीज ये भी बताती है कि बड़े बुजुर्गो को अपना सब कुछ बच्चो को नही दे देना चहिये, कुछ अपने बुढापे के लिए बचाकर के रखना चाहिए ताकि  उस समय में वो उनका सहारा बन सके क्योंकि आज के वक्त में व्यक्ति सिर्फ पैसे पर ही भरोसा कर पाता है.