बिहार के शिक्षक ध्यान दें! अब मास्टर साहब का भी बनेगा बच्चे जैसा रिपोर्ट कार्ड, जानिए पूरा प्लान..

0
4

डेस्क: अभी तक आपने छात्रों के रिपोर्ट कार्ड के बारे में सुना होगा, लेकिन अब बिहार में शिक्षकों का भी हर महीने रिपोर्ट कार्ड बनने जा रहा है। इसमें उनके स्कूल आने और जाने का हिसाब भी दर्ज होगा। उसी के आधार पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। राज्य सरकार ने इसके लिए व्यापक कार्ययोजना भी तैयार की है। साथ ही क्रियान्वयन की जिम्मेदारी भी जिला स्तरीय अधिकारियों को सौंपी गई है. बिहार शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने भी सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजा है.

इसमें अपर मुख्य सचिव ने स्पष्ट किया है कि शिक्षकों की ढिलाई किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जायेगी और बिना सूचना के विद्यालय से अनुपस्थिति स्वीकार नहीं की जायेगी. वह ऐसे शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश पहले ही दे चुके हैं। अब इस बारे में और जानकारी देते हुए शिक्षकों को हर महीने रिपोर्ट कार्ड तैयार करने को कहा गया है. शिक्षा विभाग ने शिक्षकों का नियंत्रण दो स्तरों पर तय किया है।

स्पष्टीकरण मांगा जाएगा

आलसी शिक्षकों के स्कूल आने-जाने के संबंध में जिला स्तर पर हर माह निगरानी रिपोर्ट भी तैयार की जाएगी। इस दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी (प्राथमिक शिक्षा एवं सर्व शिक्षा अभियान) प्राथमिक विद्यालयों में अनुपस्थित रहने वाले प्रधानाध्यापकों, शिक्षकों एवं शिक्षकों से स्पष्टीकरण भी लेंगे. वहीं, जिला कार्यक्रम अधिकारी (माध्यमिक शिक्षा) माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में अनुपस्थित रहने वाले प्राचार्यों, शिक्षकों, शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगेंगे. स्पष्टीकरण संतोषजनक नहीं होने पर वे स्थायी वेतन कटौती की भी अनुशंसा करेंगे। साथ ही इन दोनों अधिकारियों द्वारा मांगा गया खुलासा और की गई कार्रवाई की रिपोर्ट भी हर महीने जिला शिक्षा अधिकारी को सौंपी जाएगी।

राज्य सरकार स्कूलों की दशा सुधारने के लिए प्रतिबद्ध है

शिक्षा दिवस पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि जो शिक्षक बच्चों को नहीं पढ़ाते उन्हें स्कूलों से निकाल देना चाहिए. साथ ही अच्छा पढ़ाने वाले शिक्षकों का वेतन बढ़ाया जाए। इसके बाद शिक्षा विभाग ने उस दिशा में काम शुरू कर दिया है। इसके तहत स्कूलों में देर से आने वाले और बिना सूचना के गायब रहने वाले शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया है.

जारी रखें पढ़ रहे हैं