लड़की वाला बना ज्ललाद, बेटी की प्रेमिका का प्राइवेट पार्ट काटकर हत्या, लड़की के दरवाजे पर जला शव

0
4504

कांटी थाना क्षेत्र के रेपुरा रामपुर साह निवासी सौरभ कुमार की सोनबरसा में शुक्रवार की रात प्रेम-प्रसंग में पीट-पीटकर हत्या की घटना से आक्रोशित परिजनों व ग्रामीणों ने शनिवार को पोस्टमार्टम से शव आने के बाद देवरिया रोड को जाम कर दिया। लोग हत्या में शामिल सभी आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। सौरभ के पिता मनीष ठाकुर ने पुलिस को बताया कि आरोपितों ने शुक्रवार की शाम फोन करके सौरभ को सोनबरसा में बुलाया था। वहां पहुंचने पर सौरभ को बांध कर रॉड व ईंट से बुरी तरह पीटा और उसके गुप्तांग को भी काट दिया। बेहोश होने पर उसे शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया। इस पूरे प्रकरण के बाद लड़की के पिता सुशांत पांडे एवं चाचा प्रशांत पांडे द्वारा फोन पर जानकारी दी गई कि उसके लड़के की तबीयत खराब है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसके बाद आरोपित फरार हो गए। जब वे अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टरों ने उनके बेटे को मृत बताया।

सोनबरसा गांव में खौफ का माहौल : सोनबरसा में प्रेम-प्रसंग में हुए हत्याकांड से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। वहीं सोनबरसा गांव में खौफ का माहौल व्याप्त है। सैकड़ों की संख्या में मृतक के गांव के लोग आरोपी के दरवाजे पर पहुंच गए और आरोपी पक्ष के दरवाजे के सामने ही शव का अंतिम संस्कार कर दिया। इससे पूरे गांव में खौफ का माहौल बना हुआ है। डर का यह आलम यह था कि पड़ोसी भी अपने घर को अंदर से बंद कर दुबके हुए थे। इधर, भारी संख्या में पहुंची पुलिस बल ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठियां भी चटकाई।

3 साल से चल रहा था प्रेम-प्रसंग, कई बार मिल चुकी थी हत्या की धमकी
सौरभ कुमार का विगत 3 वर्षों से सोनबरसा निवासी सुशांत पांडे की बेटी के साथ प्रेम-प्रसंग चल रहा था। इस बाबत बीते साल पंचायती हुई थी। पंचायत के पूर्व सौरभ के नाखून को उखाड़ लिया गया था। जिसके बाद सौरभ के पिता ने उसे उड़ीसा भेज दिया था। इस दौरान भी सौरभ अपनी प्रेमिका से लगातार संपर्क में रहा। वह उसी लड़की से शादी करना चाहता था। लेकिन, लड़की पक्ष को यह रिश्ता नामंजूर था।
सड़क जाम कर प्रदर्शन करते ग्रामीण।

8 जुलाई को प्रेमिका के परिजनों ने सौरभ को जान से मारने की दी थी धमकी
सौरभ के पिता मनीष ठाकुर अॉटो चालक हैं। मनीष ठाकुर के दो संतान में सौरभ के अलावा एक बेटी है। 28 जून को सौरभ अपनी इकलौती बहन की शादी में शामिल होने कांटी पहुंचा था। इस दौरान भी सौरभ अपनी प्रेमिका के संपर्क में था। इसको लेकर 8 जुलाई को रेपुरा स्थित सीएसपी सेंटर पर सौरव और उसकी प्रेमिका के परिजनों के बीच जमकर विवाद हुआ था। जिसमें सौरभ को जान से मारने की धमकी दी गई थी। इस दौरान जब सौरभ के पिता ने थाने जाने का प्रयास किया तो लड़की के परिजनों ने उन्हें अगवा कर जबरन सादे कागज पर हस्ताक्षर करा लिया। जिसके दबाव में सौरव के पिता ने प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई।