कबाड़ कारोबारी ने ख़रीदे 6 हेलीकाप्टर, चॉपर देखने जमा हुई भीड़

0
519

जिंदगी में लोग बड़े-बड़े शौक पालते हैं। यकीनन शौक पालना अच्छी चीज़ है। इन्हीं शौक की बात की बात करे तो पंजाब के मानसा से एक रोचक मामला सामने आया है। मानसा के एक कबाड़ की दुकान चलाने वाले व्यक्ति ने भारतीय एयरफोर्स के 6 कबाड़ हेलीकॉप्टर खरीद लिए हैं। इसमें गौर करने वाली बात यह है की हमारे यहाँ जब गड्ढे खोदे जाते हैं तो कितने भीड़ उमड़ जाती है, अब ये तो साक्षात एयरफोर्स का हेलीकाप्टर था। इस पुराने कबाड़ी को देखने के लिए कितने लोग एक साथ उमड़ पड़े हैं। साथ ही खूब सेल्फियाँ ली जा रहीं हैं।

किसने ख़रीदे हैं यह चॉपर

पंजाब के मानसा में एक नामी कबाड़ी कारोबारी हैं मिट्ठू राम अरोड़ा उनके बेटे डिंपल अरोड़ा ने यह एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर्स खरीदे हैं। ये एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर्स हैं, जो उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के सरसावा एयरबेस स्टेशन से खरीदे गए। इन्हेऑनलाइन नीलामी के द्वारा खरीदा गया है, जिसके लिए उन्होंने पहले टेंडर भरा था, फिर 72 लाख रुपये क़ीमत अदा करके ये हेलिकॉप्टर्स अपने नाम किए। आपको बता दें एक हेलिकॉप्टर का भार 10 टन है।

डिंपल के पिताजी अपनी कबाड़ की दुकान में हर छोटी से बड़ी चीज़ रखते हैं। डिंपल द्वारा खरीदे हुए 6 हेलिकॉप्टर्स में से 3 हेलिकॉप्टर तो बिक चुके हैं। जिनमें से एक मुंबई की पार्टी ने लिया और दूसरा लुधियाना के एक होटल मालिक ने खरीद लिया था। और बचे हुए 3 हेलिकॉप्टर्स को मानसा ले आया गया है।

हेलिकॉप्टर्स जैसे ही मानसा पहुंचे, उत्साहपूर्वक कई सारे लोग उसे देखने पहुंच गए। इनमें से बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो पहली बार इतने करीब से ज़मीन पर खड़ा हेलीकॉप्टर देख रहे थे, इसलिए लोगों ने हेलीकॉप्टर के साथ या उसके अंदर बैठकर सेल्फी भी लेना शुरू कर दिया। अपने बिज़नेस के बारे में डिंपल ने बताया कबाड़ बेचने का यह काम उनके पिता जी मिट्ठू अरोड़ा ने वर्ष 1988 में शुरू किया था और फिर धीरे-धीरे उनका यह काम बढ़ता चला गया।