जाने एक ऐसे कीड़े के बारे में जो बना सकता है आपको लखपति

0
630

दुनिया भर कई प्रजाति के कीड़े पाए जाते हैं। कुछ कीड़े होते हैं जो उड़ सकते हैं, तो कुछ नहीं उड़ सकते। इनमें से अधिकांश कीड़ो को लोग दवाइया छिड़कवा कर या अन्य तरीकों से मार दिया करते हैं। तो कई जगहों पर इन कीड़ो को खाया जाता है और कई स्थानों पर पाला जाता है। यहां तक आपने कीड़े की कई प्रजातियों को संग्रह करने के बारे में सुना होगा। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे कीड़े के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर ना केवल हैरानी होगी बल्की यदि आपको यह मिल गया तो आप लखपति भी बन सकते हैं।

हिमालय की पहाड़ियों में तीन से पांच हजार मीटर की उंचाई पर कीड़े की एक ऐसी प्रजाति पाई जाती है जिसकी कीमत लाखों में है। इन कीड़ो को हिमालयन वियाग्रा के नाम से जाना जाता है। हिमालय के अलावा दूसरे जगहों में इसे अन्य कई नामों से जाना जाता है। आइये जानते हैं इमलायन वियाग्रा के बारे में…

हिमालयन वियाग्रा दो इंच लंबा और भूरे रंग के होते हैं। यह बहुत ही ज्यादा लाभकारी कीड़े होते हैं। इनका इस्तेमाल जड़ी- बूटी की तौर पर किया जाता है। यह कीड़ा रोग प्रतिरक्षक क्षमता को बढ़ाता है, साथ ही फेफड़ों के इलाज में हिमालयन वियाग्रा काम आता है और ताकत बढ़ाने वाली दवाओं में भी इनका प्रयोग किया जाता है। अगर स्वाद की बात करें तो इसका स्वाद मीठा होता है।

अलग अलग नाम

भारत में इस कीड़े का नाम “कीड़ा जड़ी” है और इसे “हिमालयन वियाग्रा” भी कहते हैं। यह कुछ कैटरपीलर की तरह दिखता हैं। फंगस की प्रजाति से नाता रखने के कारण इस कीड़े को अंग्रेजी में “कैटरपीलर फंगस” कहते हैं। वहीं नेपाल और चीन में “यार्सागुंबा” और तिब्बत में “यार्सागन्बु” कहते हैं। और इसका साइंटिफिक नाम “ओफियोकोर्डिसेप्स साईनेसिस” हैं।

कितने दिनों तक जिन्दा रहता है यह कीड़ा ?

इन अनोखे कीड़ो की पैदा होने की कहानी भी अलग है। कुछ खास पौधों के रस से निकलने वाला यह कीड़ा केवल छह महीने तक जीवित रह सकता है। ये कीड़े सर्दियों में पैदा होते हैं और मई- जून के आने तक मर जाते हैं। इसके बाद इन्हें बाज़ारों में बिक्री के लिए उतार दिया जाता है। हैरानी की बात है की लोग इस कीड़े को पकड़ने के कई दिनों तक पहाड़ों पर ही रहते हैं।

इंटरनेशनल स्तर पर क्या है कीमत

ओफियोकोर्डिसेप्स साईनेसिस यानि हिमालयन वियाग्रा को दुनिया का सबसे महंगा कीड़ा माना जाता है। सिर्फ एक कीड़े की कीमत लगभग 1000 रूपए है। हालाकि अंतराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत में भारी गिरावट देखने को मिली। कुछ साल पहले तक इसकी कीमत जहां 19 से 20 लाख रूपए प्रति किलो था, आज वहीं इसकी कीमत 8 से 9 लाख रूपए हो गई है।