UPSC की तैयारी छोड़ शुरू किया चाय का बिज़नेस, देश भर में हो चुके हैं मशहूर

0
208

भारत में भी अब बिज़नेस और स्टार्ट उप के लिए युवा प्रेरित हो रहें हैं। बीते कुछ सालो में लोग अपनी भली चंगी नौकरी छोड़ अपना बिज़नेस या स्टार्ट अप शुरू कर रहें हैं। यही कारण है की पढ़े लिखा युवा भी सड़कों पर खाद्य पदार्थ और अन्य चीजों को बेचने का बिजनेस चला रहे हैं।

UPSC की तैयारी करने वाला आज बेच रहा चाय

आपको पता ही होगा एक समय हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी चाय बेचा करते थे। तो आज इस UPSC एस्पिरेंट की कहानी भी आपको प्रेरित ज़रूर करेगी। युवाओ में अब भी सरकरी नौकरी को लेकर जागरूकता और इक्षा है। पर इंदौर के रहने वाले अनुभव दुबे ने इससे अलग हटकर कुछ किया है। अनुभव एक समय में UPSC की तैयारी करते थे पर अब यह 22 साल युवा सड़कों पर कड़क चाय बेचने का काम करता है। अनुभव ने मात्र 22 साल की उम्र में ही अपना स्टार्ट अप शुरू कर दिया है।

कुछ यूँ हुई शुरुवात

अनुभव साल 2016 में यूपीएससी की तैयारी कर रहे थे, तैयारी करते करते उनके मैं में बिज़नेस करने की इक्षा जागी। उनके दिमाग में चाय और कॉफी का बिजनेस शुरू करने ख़्याल आया। अनुभव के पिता ने अनुभव के इस सोच को सपोर्ट नहीं किया, वो नहीं चाहते थे कि उनका बेटा बिजनेसमैन बने। बिज़नेस बहुत रिस्की सेक्टर है और इसमें बहुत ज़्यादा समय और दिमाग़ ख़र्च करना पड़ता है। इसके उपाय के तौर पर अनुभव ने अपने पिता को बिना बताए चाय के बिजनेस की शुरुआत कर दी, जिसके बाद अनुभव के पिता को सोशल मीडिया और फ़ेसबुक के जरिए अनुभव के कारोबार के बारे में पता चला।

पारिवारिक सपोर्ट न मिलने की वजह से अनुभव के पास स्टार्ट अप के लिए पर्याप्त पैसे नहीं थे, तो उन्होंने अपने दोस्त आनंद नायक से मदद मांगी। आनंद भी बिजनेसमैन ही हैं, उन्होंने अनुभव को 300, 000 रुपए देकर कारोबार शुरू करने में मदद की।  अनुभव ने अपनी दुकान का नाम Chai Sutta Bar रख दिया, जो बाहर से दिखने में ही बहुत आकर्षक लगता है।

अनुभव का मानना है कि चाय एक पोटेंशियल प्रोडक्ट है, जिसे पीना इंसान की पहली ज़रूरतों में से है। इसी सोच के साथ चाय-कॉफी का बिजनेस शुरू करना अनुभव को काफ़ी फायदेमंद लगा। अपना स्टार्ट उप शुरू करने से पहले यूपीएससी की तैयारी करने के साथ-साथ सड़क किनारे कुल्हड़ में चाय बेचना शुरू कर दिया।

चाय-सुट्टा बार की सुविधाएं

अनुभव के चाय का यह बिज़नेस का कारोबार सारे देश में छा चुका है। जिसकी वज़ह से देश के अलग-अलग राज्यों में इस चाय सुट्टा बार की फ्रेंचाइजी मौजूद है। इस चाय बार में ग्राहकों को 10 अलग-अलग प्रकार की चाय सर्व की जाती है, जिसमें मसाला चाय, इलायची चाय, चॉकलेट चाय, अदरक चाय, रोज़ चाय, पान चाय, केसर चाय, लेमन चाय, तुलसी चाय और जम्बो चाय शामिल है।

अनुभव का यह बिज़नेस सिर्फ चाय तक सिमित नहीं है। इस चाय सुट्टा बार में ग्राहकों को कॉफी और स्नैक्स भी सर्व किए जाते हैं। यही वज़ह है कि देश भर में चाय सुट्टा बार की फ्रैंचाइजी की डिमांड काफ़ी तेजी से बढ़ रही है, जिसमें ग्राहकों को कुल्हड़ में चाय दी जाती है।

एक अच्छी तरकीब और छा गया बिज़नेस

अनुभव ने बिज़नेस के लिए लोकेशन स्टडी कर लोकेशन चुना। उन्होंने ऐसी जगह चुनी जहाँ सबसे ज़्यादा भीड़ इकट्ठा हो सकती थी। उन्होंने इंदौर में गर्ल्स हॉस्टल के सामने Chai Sutta Bar की शुरुआत की, ताकि कम समय में ज़्यादा से ज़्यादा भीड़ इकट्ठा हो सके। इस आइडिया के पीछे अनुभव का तर्क था कि जिस जगह पर लड़कियाँ आती हैं, वहाँ लड़कों का आना लाजिमी है। और जब हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों कोअच्छी क्वालिटी की चाय पीने को मिलेगी तो वो उनकी दुकान की तरफ़ आकर्षित होगी। और यह तर्क फायदेमंद साबित हुआ और चल पड़ा अनुभव का चाय-सुट्टा बार।