UPSC में 4 बार असफल होने के बाद बने आईएएस अफसर, जानिए IAS राहुल संकानूर की कहानी

0
46

असफलता ही हमे सफलता की सीढ़ी बनती है और हमें मंज़िल तक पहुँचती। अगर इंसान असफलता से हार मान कर प्रयास ही करना छोड़ दे तो फिर सब कुछ व्यर्थ हो जाता है। इसीलिए इस दौरान व्यक्ति को धैर्य रखने की ज़रूरत होती है। हम सब ने वो मकड़ी की कहानी तो सुनी ही है, जो गिरती रहती है लेकिन कभी हार नहीं मानती और अंत में अपना जाल बना ही लेती है। कुछ ऐसी ही प्रेणात्मक कहानी है आईएएस राहुल संकानूर की। राहुल ने एक दो बार नहीं बल्कि चार बार UPSC की परीक्षा दी और असफल रहे, पर हिम्मत नहीं हारी। आखिरकार पांचवें प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास कर IAS अधिकारी बन गए। आइये जानते हैं उनके संगर्ष के बारे में और कैसे उन्होंने लगातार हार का मुंह देखने के बाद खुद का विश्वास बनाए रखा।

राहुल कर्णाटक के हुबली शहर के रहने वाले हैं। उन्होंने पांचवे प्रयास में साल 2019 में UPSC की परीक्षा निकाली। राहुल ने हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद इंजीनियरिंग की। इंजीनियरिंग कम्पलीट करने के बाद वे एक IT कंपनी से जुड़ गए। इस कंपनी में उन्होंने कुछ 2 साल तक काम किया। 2 साल काम करने के बाद उन्होंने अपनी नौकरी छोड़कर यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करने का फैसला किया।

आईएएस बनने का सफर आसान नहीं था

हर UPSC उमीदवार की चाह यही होती है की एक प्रयास में वो सफल हो जाए। कुछ लोग तो सफल हो जाते हैं पर हर छात्र की यह चाहत पूरी नहीं हो पाती है। राहुल भी उन उमीदवारों में से हैं जिनकी चाहत पूरी नहीं हो पाई। उन्हें सफलता पाने में 5 साल लग गए। अपने चार असफल प्रयासों के बाद बाद उन्होंने हार नहीं मानी। वो पांचवी बार यूपीएससी परीक्षा में बैठे। प्रयास में उन्होंने आल इंडिया 17वीं रैंक हासिल की।

राहुल ने बताया उन्हें इस सफर में परिवारवालों का काफी समर्थन मिला। राहुल आगे कहते हैं, “जब यूपीएससी क्रैक करने की बात आती है तो कई लोग आपको डिमोटिवेट करने की कोशिश करेंगे। पर ज़रूरी यह है कि आप अपना ध्यान लक्ष्य पर रखें और कोण क्या कहता है उसपर बिलकुल ध्यान न दें। परीक्षा की तैयारी के दौरान नकारात्मक लोगों से दूर रहना जरूरी है।”

UPSC के लिए, राहुल उम्मीदवारों को सलाह देते हैं कि वे न केवल किताबी ज्ञान पर ज़ोर दें बल्कि ओवरऑल तैयारी करें। अपने आस-पास होने वाली घटनाओं के प्रति चौकस और जागरूक होना आवश्यक है, अगर आप फुल फोकस्ड है तो सफलता ज़रूर आपके द्वार खटखटाएगी।