‘बचपन का प्यार’ भूल नहीं सके IPS वृंदा शुक्ला और अंकुर अग्रवाल, 15 साल की दोस्ती के बाद की शादी

0
8

आईपीएस अंकुर अग्रवाल और वृंदा शुक्ला की लव स्टोरी काफी फ़िल्मी है इन दोनों ने भी अपने बचपन के प्यार को नहीं भुलाया और शादी कर घर बसा लिया। इन की लव स्टोरी में आपको बचपन का साथ, किस्मत एयर कई चीजे मिल जाएगा।आईपीएस अंकुर अग्रवाल और वृंदा शुक्ला उत्तर प्रदेश कैडर के आईपीएस हैं। इस समय दोनों की पोस्टिंग नोएडा में है।जहा गौतमबुद्ध नगर पुलिस थाने में वृंदा शुक्ला डीसीपी महिला सुरक्षा की पोस्ट पर हैं तो वहीं अंकुर अग्रवाल एडीसीपी सेंट्रल नोएडा पद पर हैं।




वैसे देखा जाए तो वृंदा अंकुर की बॉस हैं।वैसे आईपीएस अंकुर अग्रवाल खुद को काफी भाग्यशाली मानते है की उनकी शादी उनके बचपन के प्यार वृंदा शुक्ला से हुई है।दोनों ही हरियाणा के अंबाला के रहने वाले हैं और बचपन से एक दूसरे के साथ है इनकी बचपन की दोस्ती बड़े होने के बाद प्यार में बदल गई थी दोनों ने अंबाला कैंट के कॉन्वेंट जीसस एंड मैरी स्कूल में नौवीं तक साथ में पढ़ाई की। अंकुर का परिवार अंबाला सिटी में जबकि और वृंदा का अंबाला कैंट क्षेत्र में रहता है।

जहा वृंदा शुक्ला आगे की पढ़ाई करने अमेरिका चली गई और वही मेरिका में ही उन्हें जॉब मिली गई थी तो वही अंकुर इंडिया छोड़कर कही नहीं गए और उन्होंने यही रहकर इंजीनियरिंग की और बंगलुरू की कंपनी में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर जॉब करने लगे लेकिन तभी अंकुर की कंपनी ने उनका अमेरिका ट्रांसफर कर दिया किस्मत के चलते अंकुर और वृंदा एक बार फिर मिल गए।दोनों ने अमेरिका में ही रहा कर अपनी जॉब के साथ यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी थी।

भारत वापस आकर दोनों ने एग्जाम दी जिसमें असफल रहे पर दोनों ने हार नहीं मानी और मेहनत करते हुए जिसके बाद साल 2014 में वृंदा शुक्ला ने यूपीएससी परीक्षा पास कर ली और नागालैंड कैडर ज्वाइन किया तो वही अंकुर अग्रवाल ने भी साल 2016 में यूपीएससी परीक्षा पास कर उत्तर प्रदेश कैडर ज्वाइन कर ली थी।दोनों अपने मकसद में कामयाब रहे थे पर इसे दोनों के बीच बीच की दूरियाँ भी बढ़ गई।

अंकुर यूपी में थे और वृंदा नागालैंड में पर बाद में वृंदा कैडर चेंज कर यूपी आ गई।इन दोनों ने जनवरी 2020 से बतौर नोएडा में डीसीपी और एडीसीपी अपनी सेर्वेस शुरू कर दी थी और इसे पहले दोनों ने 9 फरवरी 2019 को शादी की थी। पहले तो दोनों के परिजन कास्ट अलग होने के चलते नहीं माने थे, लेकिन बाद में उन्होंने इस रिश्ते को स्वीकार कर लिया था।