काबुल एयरपोर्ट को लेकर जो बाइडेन की चेतावनी, 24 से 36 घंटे में फिर से हमला

0
10

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने जानकारी दी है, उन्होने राष्ट्रीय सुरक्षा टीम और अफगानिस्तान में तैनात कमांडरों के साथ अहम बैठक की है।

New Delhi, Aug 29 : अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद काबुल एयरपोर्ट पर पिछले दिनों हुए आत्मघाती हमले के बाद अमेरिका ने एक और हमले का अलर्ट जारी किया है, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस संबंध में चेतावनी जारी करते हुए कहा, कि काबुल एयरपोर्ट पर पिछले 24 से 36 घंटे के भीतर एक और हमला हो सकता है, उनका कहना है कि अफगानिस्तान में हालात बेहद खतरनाक हैं और हमले का खतरा भी बरकरार है।

बाइडेन ने दी जानकारी
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने जानकारी दी है, उन्होने राष्ट्रीय सुरक्षा टीम और अफगानिस्तान में तैनात कमांडरों के साथ अहम बैठक की है, उनका कहना है कि उन्हें कमांडरों ने बैठक में बताया कि joe biden (2)  काबुल एयरपोर्ट पर अगले 24 से 36 घंटे के भीतर हमला हो सकता है, बाइडेन ने कहा कि बैठक के दौरान हमने पिछली रात अफगानिस्तान में आतंकी संगठन आईएसआईएस के ठिकानों पर की गई बमबारी पर चर्चा की, उन्होने कहा कि मैंने कहा था कि हम हमारे सैनिकों और नागरिकों पर हमले के जिम्मेदार लोगों को खोजेंगे और हमने ऐसा ही किया।

सजा देंगे
जो बाइडेन ने कहा आतंकियों पर किया गया ये हमला आखिरी नहीं था, हम काबुल हमले में शामिल दोषियों का पीछा करेंगे, उन्हें सजा देंगे, जब भी कोई अमेरिका या हमारे सैनिकों पर हमला करेगा, हम करारा जवाब देंगे। kabul airport राष्ट्रपति ने कहा कि काबुल में खतरनाक हालात के बीच हम नागरिकों को वहां से निकाल रहे हैं, कल हमने 6800 लोगों को निकाला था, जिसमें सैकड़ों अमेरिकी भी थे, उन्होने कहा कि हमने इस बात पर भी चर्चा की, कि अमेरिकी सैनिकों के अफगानिस्तान से जाने के बाद लोगों को किस तरह से बाहर निकाला जाए।

काबुल हवाई अड्डा बंद
वहीं तालिबान बलों ने शनिवार को काबुल हवाई अड्डे को बंद कर दिया है, ज्यादातर अफगान देश बाहर निकलने की उम्मीद लगाये हुए हैं, उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के अधिकतर देश अफगानिस्तान में दो दशकों के बाद अपने सैनिकों को निकालकर ले गये हैं। kabul airport अमेरिका ने तालिबान के काबुल पर कब्जा करने के बाद से 1 लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित रुप से निकाला है और उसे उम्मीद है कि मंगलवार की समय सीमा तक वो अपने सभी लोगों को वहां से निकाल ले।