सीएम योगी का बड़ा ऐलान, शराब और मांस बेचने पर लगा प्रतिबंध

0
532

सीएम योगी ने कहा कि यहां पर कहीं भी मांस-मदिरा की बिक्री ना हो, इसके लिये जिला प्रशासन से उन्होने कार्य योजना बनाने का निर्देश दिया और कहा कि जो लोग इन काम में लगे हुए हैं, उन्हें पुनर्वास के रुप में दूध बेचने जैसे कामों में लगाया जा सकता है।

New Delhi, Aug 31 : यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर कहा कि मथुरा में मांस और मदिरा की बिक्री पर रोक लगेगी, मथुरा में कृष्णोत्सव कार्यक्रम के दौरान सीएम ने कहा, यहां का भौतिक विकास हो, पर आध्यात्मिक और सांस्कृतिक विरासत को भी बचाये रखना है, क्योंकि यही देशवासियों की पहचान है, उन्होने राधा राधी की नगरी वृंदावन की आध्यात्मिक शक्ति की प्रशंसा करते हुए कहा कि वो यहां के कण-कण में भगवान बांके बिहारी का दर्शन करते हैं। यही कारण है कि जितने समय तक वृंदावन में वैष्णव कुंभ चला, कुछ नहीं हुआ, लेकिन कुंभ के बाद ही कोरोना की दूसरी लहर आ गई, जिसमें बहुतों को खोया गया, उन्होने उनके प्रति सदभावना भी जाहिर की।

मांस बेचने वाले दूध बेचे
सीएम योगी ने कहा कि यहां पर कहीं भी मांस-मदिरा की बिक्री ना हो, इसके लिये जिला प्रशासन से उन्होने कार्य योजना बनाने का निर्देश दिया और कहा कि जो लोग इन काम में लगे हुए हैं, उन्हें पुनर्वास के रुप में दूध बेचने जैसे कामों में लगाया जा सकता है, इससे एक बार फिर से मथुरा में दूध-दही की नदियां बहेंगी, योगी ने इस मौके पर कृष्ण जन्मभूमि में पूजा-अर्चना भी की। Liquor मंदिर में प्रवेश करते ही उन्होने बांके बिहारी के चरणों में माथा टेका, इसके बाद ढोल-नगाड़ों के साथ उन्होने भगवान की पूजा की।

बंदिशें खत्म कर रहे हैं
योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने आज देश को ना सिर्फ नई दिशा दी, बल्कि सैकड़ों सालों से उपेक्षित पड़े आस्था के केन्द्र वापस आ रहे हैं, आजादी के बाद पहली बार राष्ट्रपति अयोध्या गये, इसी प्रकार आजादी के बाद पहली बार पीएम अयोध्या गये, जहां पर राम मंदिर की आधारशिला रखी गई है, सीएम ने कहा कि पूर्व की सरकारों को भारत की सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत के प्रति सांप्रदायिकता झलकती थी, जो मंदिर जाने तक से डरते थे, liquor वहीं वर्तमान सरकार राम और कृष्ण रके जन्म स्थलों को बेहतर बना रही है, उन्होने कहा कि पहले हिंदूओं के त्योहारों पर बिजली, साफ-सफाई, समय आदि की बंदिशें लगती थी, अब उसके विपरीत है, उनका कहना था कि आज आध्यात्मिकता को सुरक्षित रखते हुए विकास और तकनीक के नये युग के लिये तैयार करना है।

ब्रज के विकास को समर्पित
यूपी ब्रज तीर्थ विकास परिषद के गठन से लेकर नगर निगम के गठन तथा यहां से 7 पवित्र स्थानों को तीर्थस्थल घोषित करने का जिक्र करते हुए सीएम ने ये दिखाया, कि राज्य सरकार ब्रज के विकास को कितना समर्पित है, उन्होने ब्रज तीर्थ विकास परिषद द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यों की भी प्रशंसा की, और परिषद के गठन के लिये यहां के मंत्रियों, सांसद हेमा मालिनी, महापौर आदि को साधुवाद दिया।