आख़िर क्यों डेथ वैली के नाम से मशहूर है यह जगह, जानिए इसके पीछे का राज़

0
122

दुनिया भर में हमे कई सारे ऐसी खबरें मिलती हैं जो या तो रोचक या रहस्यमयी होती हैं। कुछ ऐसी ही एक रहस्यमयी स्थान है जो डेथ वैली के नाम से मशहूर है। इस जगह के पीछे कई सारे राज छुपे हैं। इस डेथ वैली में ऐसी कई रहस्यात्मक घटनाएं हुई हैं जिसका आज तक लुक पता नहीं चल पाया है। डेथ वैली दुनिया का सबसे गर्म इलाकों में से एक है और यह अमेरिका में स्थित है।इस जगह के बारे में बताया जाता हूं कि यहां पत्थर खुद से ही अपने स्थान को छोड़ आगे बढ़ जाते हैं।

कहाँ है डेथ वैली

रहस्यमयी डेथ वैली, कैलिफोर्निया के दक्षिण-पूर्व में नेवाडा स्टेट के पास स्थित है। इसकी लंबाई  लगभग 225 किलोमीटर और इसकी चौड़ाई 8 से 14 किमी की है। आपको बता दें इसकी चौड़ाई घटती-बढ़ती रहती है।

क्यों इसका नाम है डेथ वैली

इस जगह के बारे में बताया जाता है कि अमेरिका जाने के लोए इस वैली को क्रॉस कर जाना होता है। यह वैली दुनिया के सबसे गर्म जगहों में से एक है, इसीलिए यहाँ से गुजरने वाले इंसान या जानवर रास्ते में ही गर्मी की वजह से दम तोड़ देते थे।

वैज्ञानिकों ने जब बाद में इस जगह पर खोज की तो उन्हें भारी मात्रा में इंसानों और जानवरों की हड्डियां मिलीं जिसके बाद इस जगह को ‘डेथ वैली’ और ‘मौत की घाटी’ का नाम दे दिया गया। वर्ष 1933 में इस जगह को अमेरिकी सरकार द्वारा अमेरिका का नेशनल मोन्यूमेंट बना दिया गया था।

क्यों हिलते हैं पत्थर 

डेथ वैली के बारे में बताया जाता है कि यह पत्थर अपने स्थान से अपने आप सरकते हैं। अब आपको लग रहा होगा पत्थर छोटे या फिर बहुत हल्के होंगे। पर ऐसा भी नहीं है कि यह पत्थर काफी हल्के हों, इनका वजन 115 किलो ग्राम तक है। यह बात वैज्ञानिकों के लिए भी रहस्यमयी है कि कैसे बिना किसी बाहरी दबाव के यह अपने स्थान को छोड़ 3 किमी आगे तक कैसे पहुंच जाते हैं।

 

पत्थरों के सरकने से उनके पीछे एक गहरा निशान बन जाता है। वैज्ञानिकों का मानना है कि यह हवाओं की वजह से भी हो सकता है। ऐसा माना जाता है कि यह प्रक्रिया साल में एक से दो बार होती है हालांकि किसी ने भी इन पत्थरों को सामने से सरकते हुए आजतक नहीं देखा है।