दिहाड़ी मजदूर बन गई मुखिया, 5 उम्‍मीदवारों को पछाड़कर जीता पंचायत चुनाव

0
19

दिहाड़ी मजदूर की तरह जीवन बिता रही एक आम सी महिला पंचायत प्रमुख बन गई । कल तक जिसकी कोई पूछ नहीं थी, आज उसके बिना किसी का काम ही नहीं हो सकता है ।

New Delhi, Oct 05: भारतीय लोकतंत्र हर किसी को स्‍वतंत्रता देता है, प्रतिनिधित्‍व करने का मौका देता है । फिर वो राजा हो या रंक जनता चुनती है तो सत्‍ता तक पहुंचने से उसे कोई नहीं रोक सकता । बहरहाल कुछ ऐसा ही एक मामला सामने आया बिहार के जमुई जिला से, जहां पंचायत चुनाव के दूसरे चरण की मतगणना समाप्त होने के बाद दिहाड़ी मजदूर के तौर पर काम करने वाली , निचले समाज की महिला पंचायत की मुखिया बन गई ।

दूसरों को देंगी रोजगार
ये महिला खुद ईंट-भट्टे या खेतों में काम कर अपने परिवार को पाल रही थी, अब मुखिया बनने के बाद गांव के दूसरे लोगें के रोजगार का समाधान करेगी ।  पंचायत के लिए काम करेगी । रेखा देवी नाम की नवनिर्वाचित मुखिया के मुताबिक उनका सपना है अपनी पंचायत को आदर्श पंचायत बनाने का । आपको बता दें बिहार में पंचायत चुनाव जारी है और दूसरे चरण के रिजल्ट आ रहे हैं । जमुई जिले के दो प्रखंडों में 26 पंचायतों का परिणाम आ चुके हैं । इनमें से 24 में पुराने चेहरों को ना चुनकर जनता ने नए चेहरों पर दांव खेला है ।

काम करने का जज्‍बा
रेखा देवी को अभी ठीक तरह से अपनी बात रखनी नहीं आती लेकिन वो दिल लगाकर मेहनत करना चाहती हैं ये जोश और जज्‍बा उनमें नजर आता है । रेखा देवी ने कहा कि उन्‍होंने गरीबी को बहुत ही नजदीक से देखा है इसलिए गरीबों को उनका हक दिलाना ही बतौर मुखिया पहली प्राथमिकता होगी । वो गांव और पंचायत के लिए विकास का काम करेंगी ।

5 उम्‍मीदवारों को पछाड़ा
सहौड़ा पंचायत की नई मुखिया रेखा देवी पंचायत चुनाव में 5 प्रत्याशियों को हराकर जीती हैं । रेखा देवी ने मुखिया चुनाव में 1612 मत हासिल कर अपने निकटतम प्रतिद्वंदी को 437 मतों से पराजित किया । रेखा देवी के मुखिया बन जाने से उनके समुदाय के लोग बहुत खुश हैं । उन्‍हें उम्‍मीद है कि अब उनके अधूरे निर्माण कार्य पूरे होंगे, समाज का विकास होगा, उनके बच्‍चों के लिए भी काम होगा ।