वरुण गांधी ने पकड़ लिया है अलग ही स्टेशन, अब लखीमपुर केस पर पार्टी लाइन से अलग मांग

0
13

पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने ट्विटर पर लिखा, लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ियों से जानबूझकर कुचलने का ये वीडियो किसी की भी आत्मा को झकझोर देगा।

New Delhi, Oct 05 : लखीमपुर खीरी हिंसा पर अब बीजेपी के अंदर से ही दो स्वर देखने को मिल रहे हैं, जहां कुछ लोग इसे सुनियोजित साजिश तथा खालिस्तान से जोड़ रहे हैं, तो वहीं कुछ लोग इस घटना को बड़ी गलती और बचाव में इस्तेमाल की जा रही भाषा को आपत्तिजनक करार दे रहे हैं, सांसद वरुण गांधी जैसे कुछ नेता तो खुलकर इस पर ऐतराज भी जता रहे हैं, जबकि कुछ सामने आये बिना नाराजगी जता रहे हैं।

दो स्वर
यूपी बीजेपी के कुछ वरिष्ठ नेता लखीमपुर से पार्टी को बैकफुट पर आने की बात करते हुए देखे जा रहे हैं, विधानसभा चुनाव से पहले ये घटना कहीं सेल्फगोल साबित ना हो जाए, इसका भी डर उन्हें सता रहा है, varun yogi वरुण गांधी ने इस घटना के वायरल हो रहे वीडियो पर गाड़ियों के मालिक तथा उसमें बैठे लोगों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं।

वरुण का ट्वीट
पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने ट्विटर पर लिखा, लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ियों से जानबूझकर कुचलने का ये वीडियो किसी की भी आत्मा को झकझोर देगा, पुलिस इस वीडियो का संज्ञान लेकर इन गाड़ियों के मालिकों, varun gandhi इनमें बैठे लोगों तथा इस प्रकरण में संलिप्त अन्य व्यक्तियों को पहचान कर तत्काल गिरफ्तार करे।

रायता फैल गया
यही पहला शब्द था योगी सरकार के एक कैबिनेट मंत्री का, जब उनसे मामले पर रिएक्शन मांगा गया, वहीं एक दूसरे मंत्री ने भी सरकार द्वारा इस मामले को हैंडल करने के तरीकों पर नाराजगी जताई, उन्होने कहा कि हमको दोनों तरफ से नुकसान हुआ, हमारे कार्यकर्ता भी मारे गये, हमारी सरकार भी कठघरे में खड़ी है। मंत्री ने कहा जब राजनीतिक फीडबैक अलग रखी जाती है, कभी चर्चा नहीं की जाती है, जब आप सिर्फ अफसरों के फीडबैक पर भरोसा करते हैं, तो ऐसा होता है, दूसरे मंत्री ने कहा ऐसी परिस्थिति में फालतू की बयानबाजी से बचा जाता है, संयम रखा जाता है, लेकिन क्या कहें।