बदल गया चिराग पासवान की पार्टी का नाम, पारस को चुनाव आयोग से मिला ये चुनाव चिन्ह

0
26

अब चिराग पासवान ने नई पार्टी गठित कर ली है, चुनाव आयोग ने चिराग की पार्टी तथा चिन्ह को स्वीकृति दे दी है, वहीं चुनाव आयोग ने पशुपति पारस को भी नई पार्टी तथा चुनाव चिन्ह आवंटित किया है।

New Delhi, Oct 05 :  चिराग पासवान ने आखिरकार लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के नाम से नये राजनीतिक दल का गठन कर लिया है, उनकी पार्टी का चुनाव चिन्ह हेलीकॉप्टर होगा, चाचा पशुपति कुमार पारस ने अपने बड़े भाई दिवंगत रामविलास पासवान के बेटे चिराग को लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से अपदस्थ कर दिया था, जिसके बाद चिराग कोर्ट और चुनाव आयोग के पास पहुंचे थे।

नई पार्टी
अब चिराग पासवान ने नई पार्टी गठित कर ली है, चुनाव आयोग ने चिराग की पार्टी तथा चिन्ह को स्वीकृति दे दी है, वहीं चुनाव आयोग ने पशुपति पारस को भी नई पार्टी तथा चुनाव चिन्ह आवंटित किया है, Chirag Paswan उनकी पार्टी का नाम राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी होगा, उनका चुनाव चिन्ह सिलाई मशीन होगा।

चाचा-भतीजा में विवाद
लोजपा को लेकर चिराग और पशुपति पारस के बीच विवाद को देखते हुए चुनाव आयोग ने पार्टी के नाम तथा चुनाव चिन्ह बंगला को फ्रीज कर दिया है, इसके बाद दोनों ओर से आयोग में नये नाम और चिन्ह को लेकर आवेदन किया गया था, chirag paras अब इलेक्शन कमीशन ने चिराग की ओर से सुझाये गये नाम तथा चुनाव चिन्ह पर मुहर लगा दी है। दूसरी ओर आयोग ने पशुपति पारस को नया नाम आवंटित किया है, साथ ही चुनाव चिन्ह भी दिया है।

बिहार में होना है उपचुनाव
बता दें कि चिराग और पशुपति पारस को बिहार में 2 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर अलग-अलग पार्टी का नाम सौंपने को कहा गया था, इस साल जून महीने में पारस ने भतीजे चिराग को पद से अपदस्थ करते हुए पार्टी पर कब्जा कर लिया था, जिसके बाद दोनों के बीच राजनीतिक तकरार चरम पर पहुंच गया था, चिराग ने चाचा पारस को नेता मानने से इंकार कर दिया था, लेकिन पशुपति पारस ने पार्टी में पर्याप्त समर्थन जुटा लिया था, मोदी सरकार में मंत्री बनने के बाद लोजपा के असली हकदार होने के सवाल पर पारस ने कहा था कि वो इस बाबत चिराग से किसी भी कोर्ट में कानूनी लड़ाई लड़ने के लिये तैयार हैं।