पंचतत्व में विलीन हुए सिद्धार्थ शुक्ला, कांपते हाथों से मां ने अपने लाडले को दी मुखाग्नि

0
33

दिवंगत एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला पंचतत्व में विलीन हो चुके हैं. नम आंखों से परिवार और दोस्त, रिश्तेदारों ने अंतिम विदाई दी है. सिद्धार्थ का ओशिवारा श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार किया गया है. सिद्धार्थ की मां ने अपनी जान को कांपते हाथों से मुखाग्नि दी है. जिसे देखकर हर किसी का कलेजा फट गया. वहीं सिड की सबसे अच्छी दोस्त व कथित गर्लफ्रेंड शहनाज गिल ने अंतिम क्रिया की पूजा की है.

पंचतत्व में विलीन हुए सिद्धार्थ शुक्ला, कांपते हाथों से मां ने अपने लाडले को दी मुखाग्नि
आपको बता दें सिद्धार्थ शुक्ला का यूं अचानक सबको छोड़ जाना सभी को आहत कर रहा है. वहीं सिड को उनके चाहने वालों ने अपने नम आँखों से विदाई दी है. किसी के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. उनकी कथित प्रेमिका शहनाज गिल की हालत बहुत खराब है. उन्होंने रो रोकर अपना बुरा हाल कर लिया है.

हमेशा-हमेशा के लिए सबको रोता हुआ छोड़ चले गए सिद्धार्थ शुक्ला
जानकारी के मुताबिक गुरुवार को हार्ट अटैक के चलते सिद्धार्थ शुक्ला का निधन हो गया. जिसके बाद उनके रिश्तेदार, बॉलीवुड सितारों और करीबियों का उनके घर तांता लग गया है. सिद्धार्थ शुक्ला शो बालिका वधू और दिल से दिल तक को लेकर फेमस हुए थे. इसके साथ वह बिग बॉस 13 के विनर भी रहे थे.

पंचतत्व में विलीन हुए सिद्धार्थ शुक्ला, कांपते हाथों से मां ने अपने लाडले को दी मुखाग्नि
ब्रह्मकुमारी रीति-रिवाज के साथ किया गया सिद्धार्थ का अंतिम संस्कार
सिद्धार्थ शुक्ला का ब्रह्मकुमारी रीति-रिवाज के साथ अंतिम संस्कार किया गया है. जहां सिर्फ करीबी लोग ही मौजूद रहे. कुछ कलाकारों को भीड़ की वजह से अंदर नहीं जाने दिया गया. हालांकि इस दौरान वहां बारिश भी खूब हो रही थी, लेकिन भीड़ में कोई कमी नहीं नजर आई.

सिद्धार्थ का पार्थिव शरीर हॉल में रखा गया था, जहां लोग उनके आखिरी दर्शन के लिए पहुंचे थे. इसके साथ ही शांति पाठ भी किया गया. सिद्धार्थ अपनी मां के एकलौते बेटे थे, उनके निधन ने मां को गहरा धक्का दे दिया है. वहीं सिद्धार्थ की कथित गर्लफ्रेंड शहनाज गिल का भी रो-रोकर बहुत बुरा हाल है.

केंद्रीय मंत्री राम दास अठावले ने भी किया सिद्धार्थ शुक्ला के अंतिम दर्शन
बता दें सिद्धार्थ के अंतिम संस्कार में केंद्रीय मंत्री राम दास अठावले भी पहुंचे. इतना ही नहीं इंडस्ट्री के कई कलाकारों के साथ उनके कई दोस्त ने भी उनके अंतिम दर्शन किए. निधन के बाद भी किसी को इस बात का यकीन नहीं हो रहा है कि वह हम सभी को छोड़कर जा चुके हैं.

पंचतत्व में विलीन हुए सिद्धार्थ शुक्ला, कांपते हाथों से मां ने अपने लाडले को दी मुखाग्नि
बता दें कि सिद्धार्थ शुक्ला ने बुधवार की रात को दवा खाई थी और फिर वह सो गए थे. करीब 3 बजे के आसपास उन्हें सीने में बेचैनी महसूस हुई थी, जिस पर उनकी मां ने उन्हें पानी पिलाकर सोने के लिए कह दिया था. इसके बाद सिद्धार्थ सोए तो उठे ही नहीं. सुबह करीब 11 बजे तक उनके निधन की खबर की पुष्टि हो चुकी थी. सिद्धार्थ की मौत हार्ट अटैक होने की वजह से हुआ है.