चूहों ने कुतरे बैग में रखे ₹2 लाख, ऑपरेशन के लिए किए थे जमा

0
5

वर्तमान समय में भारत समेत कई देशों में बेरोजगारी चरम सीमा पर है ।जहां लोगों को कोई रोजगार नहीं मिल रहा है वही काफी लोग अलग-अलग काम करके पैसा कमाने की कोशिश कर रहे हैं। एक व्यक्ति दिन रात मेहनत करके पैसे कमाता है और इसके बाद उन्हें संभाल के रखने की कोशिश करता है।

जीवन में हर किसी व्यक्ति को दैनिक दिनचर्या के लिए पैसे की आवश्यकता होती है लेकिन इसके बावजूद भी कुछ अतिरिक्त पैसे संभाल कर रखने का प्रयास करता है ताकि बुरे वक्त में वह काम आ सके। आज आपको ऐसे ही एक व्यक्ति के बारे में बताते हैं जिसने पेट के ऑपरेशन के लिए ₹200000 रखे थे लेकिन किस्मत के आगे वह जीत नहीं सका क्योंकि उसके द्वारा रखे हुए ₹200000 चूहों ने पूरी तरह कुतर डालें।

हम बात कर रहे हैं तेलंगाना के रहने वाले हैं एक किसान की, जिसका नाम रेड्डी नायक है। जिसने पाई पाई इकट्ठा करके पैसे जमा किए थे। पैसे जमा करने के बाद उसने कभी सोचा भी नहीं था कि उसके साथ इस तरह की वारदात घटित हो सकती है। किसान खेत में मेहनत मजदूरी करके पैसे खट्टा करता है लेकिन जब यही पैसे चूहे कुतर दे तो मजबूर इंसान क्या कर सकता है।

इस गरीब किसान ने पेट के ऑपरेशन के लिए पैसे इकट्ठा किए थे। जिन्हें एक बैग में सुरक्षित रख दिया लेकिन कुछ समय बाद ही चूहों ने बैग में रखे सारे पैसे कुतर दिए। बैग में 1000-2000 नहीं बल्कि पूरे ₹200000 थे। तेलंगाना के इंदिरा नगर थाना के वेमनुर गांव की है जहां एक गरीब किसान चूहों की वजह से बेबस और बेसहारा हो गया।

तेलंगाना के रहने वाले इस किसान ने एक कपड़े के बैग में पैसे रखे थे। इसके बाद उन्होंने पूरे बैग और पैसों को कुतर दिया। यह किसान सब्जी का ठेला चलाता है जिसके बाद इसने थोड़े थोड़े पैसे जमा करके₹200000 खट्टा कर लिए थे जो पेट के ऑपरेशन के लिए जरूरी थे। चूहों ने ऑपरेशन के लिए रखे इन पैसों को पूरी तरह तबाह कर दिया।

आपको बता दें कि तेलंगाना के इस किसान के पेट में तकलीफ है जिसके लिए डॉक्टर ने ऑपरेशन करने की सलाह दी थी इसके बाद से ही रिश्तेदारों से और खुद की मेहनत से पैसे इकट्ठा किए। पहले कटे-फटे नोटों को वापस लेने के निर्देश दिए थे लेकिन चूहों ने इन नोटों को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट दिया जिसका अभी तक कोई भी समाधान नहीं निकल पाया है।