लखीमपुर केस- केन्द्रीय गृहराज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा कर सकते हैं सरेंडर, नई रणनीति

0
19

एफआईआर में अजय मिश्रा के वायरल वीडियो का भी जिक्र किया गया है, एफआईआर के मुताबिक जिस दिन थार गाड़ी से किसानों को टक्कर मारी गई, उस गाड़ी में बायीं ओर आशीष मिश्रा उर्फ मोनू बैठा हुआ था।

New Delhi, Oct 06 : यूपी के लखीमपुर खीरी में 4 किसानों की गाड़ी से कुचलकर हत्या मामले में आरोपित केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा सरेंडर कर सकते हैं, सूत्रों के मुताबिक आशीष लखीमपुर खीरी के कोर्ट में सरेंडर कर सकते हैं, आपको बता दें कि आशीष समेत 14 लोगों के खिलाफ हत्या, आपराधिक साजिश तथा बलवा समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

मुकदमा दर्ज
लखीमपुर खीरी के तिकुनिया थाने में उनके खिलाफ हत्या, आपराधिक साजिश, दुर्घटना तथा बलवा की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, ये एफआईआर बहराइच नानपारा के जगजीत सिंह की तहरीर पर दर्ज की गई है। पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है।

वायरल वीडियो का जिक्र
एफआईआर में अजय मिश्रा के वायरल वीडियो का भी जिक्र किया गया है, एफआईआर के मुताबिक जिस दिन थार गाड़ी से किसानों को टक्कर मारी गई, उस गाड़ी में बायीं ओर आशीष मिश्रा उर्फ मोनू बैठा हुआ था, ashish mishra (1) लखीमपुर मामले में दर्ज एफआईआर की कॉपी सामने आ चुकी है।

बीजेपी कार्यकर्ता ने भी दर्ज करवाई एफआईआर
मामले में बीजेपी कार्यकर्ता सुमित जायसवाल ने भी एफआईआर दर्ज करवाया है, ये मामला अज्ञात उपद्रवियों के खिलाफ दर्ज किया गया है, जिसमें हत्या, बलवा और मारपीट की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है, sumit-jaiswal मामले के मुताबिक गाड़ी में सुमित अपने मित्र शुभम और ड्राइवर हरिओम के साथ था, उपद्रवियों ने उनकी गाड़ी पर लाठी तथा पत्थरों से हमला किया, जिससे ड्राइवर हरिओम के सिर पर चोट लगी, जिसके बाद ड्राइवर के गाड़ी रोकने पर उपद्रवियों ने उसे खींचकर लाठी-डंडों तथा तलवारों से मारा, इस दौरान सुमित ने दोस्त शुभम के साथ भागने की कोशिश की, लेकिन उपद्रवियों ने शुभम मिश्रा को पकड़ कर मारना शुरु कर दिया।