Home खबरे आखिर क्यों सिद्धार्थ के परिवार वालों ने नहीं देखने दिया उनके दोस्तों...

आखिर क्यों सिद्धार्थ के परिवार वालों ने नहीं देखने दिया उनके दोस्तों को उनका चेहरा, KRK ने किया खुलासा

0
4368

टीवी इंडस्ट्री में 2 सितंबर को कुछ ऐसा हुआ जिसने सबके होश उड़ा दिए। टीवी और फ़िल्म के मशहूर अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला ने 2 सितंबर को हम सभी की अलविदा कह दिया। वो महज़ 40 साल के थे, इस खबर को सुन कर इंडस्ट्री के लोगों के साथ पूरा देश शॉक में है। 3 सितंबर को ओशिवारा घाट पर उनका अंतिम संस्कार हुआ। उनके अंतिम संस्कार में इंडस्ट्री के उनके कई दोस्त उनको विदाई देने पहुँचे।

बता दे, सिद्धार्थ शुक्ला के अंतिम संस्कार के समय उनका चेहरा किसी को भी नहीं दिखाया गया था। ऐसे में सिद्धार्थ शुक्ला का अंतिम समय में चेहरा ना दिखाने के पीछे का कारण मशहूर फिल्म निर्माता और क्रिटिक केआरके ने बताया है।

3 सितंबर को सिद्धार्थ शुक्ला का मुंबई के ओशिवारा शमशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया। उस दौरान परिवार वालों के साथ-साथ बॉलीवुड और टीवी के कई बड़े बड़े सितारे भी अभिनेता के अंतिम संस्कार में पहुंचे थे। लेकिन बता दे कि, सिद्धार्थ शुक्ला के अंतिम संस्कार के समय उनका चेहरा किसी को भी नहीं दिखाया गया था। ऐसे में सिद्धार्थ शुक्ला का अंतिम समय में चेहरा ना दिखाने के पीछे का रहस्य मशहूर फिल्म निर्माता और क्रिटिक केआरके (KRK) ने बताया हैं। इसके अलावा भी केआरके ने कई ऐसे खुलासे किए हैं जो वाकई हैरान कर देने वाले हैं।

सिद्धार्थ की मौत के बाद केआरके ने अपने सोशल मिडिया पर एक वीडियो शेयर किया है। इस विडियो के में केआरके ने यह बताया है कि,सिद्धार्थ शुक्ला के करीबी दोस्त आखिरी समय में उनका चेहरा देखना चाहते थे लेकिन अभिनेता के परिवार वालों ने किसी को भी उनका चेहरा देखने की अनुमति नहीं दी। उन्होंने यह भी कहा कि ‘दिवंगत अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला की मां अपने बेटे की मृत्यु पर बहुत ज्यादा नहीं रोईं क्योंकि उन्हें कहीं ना कहीं इस बात पर यकीन था कि ऐसा ही कुछ होना है। सिद्धार्थ शुक्ला की मां बहुत ज्यादा स्ट्रांग और स्पिरिचुअल है।’

KRK ने अपने इस वीडियो के जरिए कई बातों का खुलासा किया। उन्होंने यह भी बताया है कि जब सिद्धार्थ की बॉडी को कूपर अस्पताल से घर और श्मशान ले जाया गया तो उनका चेहरा किसी को नहीं दिखाया गया। जबकि सिद्धार्थ के करीबी दोस्तों ने उनके घर वालों से बहुत रिक्वेस्ट की थी, बस एक बार सिद्धार्थ शुक्ला का चेहरा देखने दीजिए। मगर घरवालों ने ऐसा करने से साफ – साफ मना कर दिया। घर वाले नहीं चाहते थे कि कोई भी सिद्धार्थ के पार्थिव शरीर की तस्वीर खिंचे और उसे वायरल कर दे। उनका मानना अब सिद्धार्थ चले गए हैं तो उन्हें आराम से जाने दिया जाए और मीडिया अटेंशन के लिए कुछ न किया जाए।

साथ ही आपको बता दें सिद्धार्थ के अंतिम संस्कार के समय पापाराज़ी मीडिया द्वारा किया गया व्यवहार बहुत ही शर्मसार और निंदनीय भी था। इंडस्ट्री के अन्य कलाकारों ने इसकी निंदा करते हुए यह आग्रह किया है कि फ्यूनरल की कवरेज लेना बंद किया जाए। जिनकी भी मृत्यु हुई है उनके परिवार वालों को शोक मनाने के लिए मीडिया के भीड़ की ज़रूरत नहीं है। सबकी प्राइवेसी का ध्यान रखना चाहिए।