मायावती को हुआ गलती का एहसास, विधानसभा चुनाव से पहले बड़ा बयान

0
78

ब्राह्मणों को निराश ना करने की बात मायावती कह चुकी हैं, अपनी पार्टी में जान फूंकने की कोशिश करती दिख रही हैं, इसी सिलसिले में उन्होने ये बड़ा बयान दिया है।

New Delhi, Sep 07 : प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन के समापन समारोह को संबोधित करते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने चुनावी शंखनाद तो किया ही, साथ ही एक बयान देकर सबको चौंका भी दिया, मायावती ने साफतौर पर कहा, कि अगर वो यूपी की सत्ता में आई, तो पार्क और स्मारक बनवाने के बजाय प्रदेश के विकास पर ही पूरा फोकस रखेंगी, सम्मेलन में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होने बीजेपी तथा अन्य विपक्षी पार्टियों पर जमकर निशाना साधा, मायावती ने कार्यकर्ताओं से हर विधानसभा क्षेत्र में एक हजार ब्राह्मण कार्यकर्ताओं को जोड़ने का भी लक्ष्य दिया है।

जान फूंकने की कोशिश
ब्राह्मणों को निराश ना करने की बात मायावती कह चुकी हैं, mamata maya अपनी पार्टी में जान फूंकने की कोशिश करती दिख रही हैं, इसी सिलसिले में उन्होने ये बड़ा बयान दिया है, जिसने यूपी का सियासी पारा चढा दिया है, क्योंकि बाकी पार्टियों को ये एजेंडा मिल जाएगा।

चूक साबित हुई
जिसमें मायावती ये मानती नजर आई, maya sp-bsp (3) कि मुख्यमंत्री रहते हुए उनके कार्यकाल में उन्होने यूपी के विकास को नजरअंदाज करते हुए पार्क तथा स्मारक बनाने का कदम उठाया था, वो चूक साबित हुई, अब मायावती ने सिर्फ विकास को ही पार्टी का एजेंडा बताया है।

बीजेपी पर निशाना
मायावती के इस बयान को न्यूज एजेंसी एएनआई ने ट्वीट के जरिये साझा किया है, इससे पहले मायावती ने केन्द्र सरकार के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन को जायज बताते हुए तथा दलितों की स्थिति पर बीजेपी सरकार और उनकी विचारधारा पर निशाना भी साधा।