नमाज के लिए ‘अलग कमरा’, झारखंड विधानसभा में हंगामा तेज, बीजेपी का ‘भजन’

0
38

झारखंड सरकार के एक आदेश ने सियासी तूफान ला दिया है, विधानसभा भवन में नमाज़ कक्ष बनाने के इस आदेश का तेजी से विरोध हो रहा है ।

New Delhi, Sep 07: झारखंड विधानसभा में नमाज के लिए अलग कमरे का इंतजाम दूसरे दलों को नागवार गुजर रहा है । दरअसल विधानसभा भवन के कमरा संख्या टीडब्ल्यू- 348 को नमाज़ कक्ष बनाया गया है, यहां मुस्लिम विधायक और अन्य मुस्लिम कर्मचारी नमाज़ पढ़ सकेंगे । यह आदेश विधानसभा अध्यक्ष रविंद्रनाथ महतो की तरफ़ से विधानसभा सचिवालय ने जारी किया है । आदेश के आते ही विपक्षी पार्टी ख़ासतौर पर बीजेपी ने इसका ज़ोरदार विरोध किया है ।

बीजेपी कर रही जमकर विरोध
नेता प्रतिपक्ष बाबूलाल मरांडी ने इस फैसले को लेकर कहा कि, विधानसभा jharkhand namaaz roomलोकतंत्र का वह मंदिर है, जिसे किसी धर्म या पंथ की परिधि में समेट कर नहीं रखा जा सकता । भारतीय जनता पार्टी इस मुद्दे को छोड़ने के मन में बिलकुल नहीं लग रही है, पार्टी पूरे राज्य में आंदोलन शुरू करने पर विचार कर रही है। जिसकी शुरुआत हो भी चुकी हैं, कल विधायकों ने विधानसभा में जमकर हंगामा काटा ।

वापस लेने की मांग
झारखंड विधानसभा में नमाज के लिए अलग कमरा आवंटित करने का मामला jharkhand namaaz roomतूल पकड़ता जा रहा है, पार्टी ने पूरे सप्ताह विरोध जताने का प्लान तैयार कर लिया है। हर जिले में विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। तब तक जब तक ये आदेश वापस नहीं लिया जा सकता । सोमवार के दिन इस मुद्दे को लेकर विधानसभा के बाहर भाजपा विधायकों ने भजन गाया था, आज हनुमान चालीसा का पाठ किया जा रहा है ।

धर्म के आधार पर कमरा आवंटन का विरोध
बीजेपी विधानसभा अध्यक्ष से मांग कर रही है कि नमाज के लिए हुए इस jharkhand namaaz roomविशेष कमरे का आवंटन रद्द किया जाए । विधानसभा परिसर में एक धर्म विशेष के लिए इस तरह की व्यवस्था नहीं की जा सकती। दूसरे दल इसे मुस्लिम तुष्टिकरण की कोशिश बता रहे हैं । सवाल पूछा जा रहा है कि अगर मुस्लिम सदस्यों के लिए नमाज पढ़ने के लिए कमरा आवंटित किया जा सकता है तो अलग-अलग धर्मों के लिए भी कक्ष आवंटित किया जाए। जिसमें सभी धर्म के लोग प्रार्थना कर सकें।