अफगानिस्तान पर पीएम मोदी और डोवाल से आज मिलेंगे रुसी NSA, अमेरिका भी संपर्क में

0
70

बुधवार को रुस के सिक्योरिटी काउंसिल जनरल (एनएसए) निकोलाई पत्ररुशेव पीएम मोदी से मिलेंगे, इसके अलावा उनकी मुलाकात एनएसए अजित डोवाल और विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ होगी।

New Delhi, Sep 08 : अफगानिस्तान में चल रहे घटनाक्रम को लेकर भारत वॉशिंगटन और मास्को के सात करीबी संपर्क बनाये हुए हैं, आधिकारिक सूत्रों के हवाले से द हिंदू ने लिखा है, कि इस सप्ताह दिल्ली में दो उच्च स्तरीय इंटेलिजेंस प्रतिनिधिमंडल अपने भारतीय समकक्षों के साथ मीटिंग करेंगे, रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के प्रमुख विलियम बर्न्स की अगुवाई में इंटेलिजेंस और सिक्योरिटी अधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल भारत और पाक का दौरा करेगा, अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को एनएसओ अजित डोवाल के साथ बैठक की, जिसमें अफगानिस्तान से लोगों की निकासी के साथ तालिबान सरकार को लेकर बातचीत हुई।

आज पीएम मोदी से मुलाकात
बुधवार को रुस के सिक्योरिटी काउंसिल जनरल (एनएसए) निकोलाई पत्ररुशेव पीएम मोदी से मिलेंगे, इसके अलावा उनकी मुलाकात एनएसए अजित डोवाल और विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ होगी, jaishankar-modi द हिंदू के अनुसार बर्न्स के दौरे के बारे में पूछे जाने पर भारतीय विदेश मंत्रालय और अमेरिकी दूतावास ने टिप्पणी से इंकार कर दिया।

अफगानिस्तान पर नजर
अमेरिकी और रुसी अधिकारियों के साथ साउथ ब्लॉक की बैठकें इस वक्त हो रही है, जब तालिबान ने मोहम्मद हसन अखुंद की अगुवाई में अंतरिम सरकार का ऐलान कर दिया है, अब्दुल गनी बरादर अफगानिस्तान के डिप्टी पीएम होंगे, Modi ये बैठकें इसलिये भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि आने वाले दिनों में पीएम मोदी एससीओ और क्वाड समूह की बैठकों में शामिल होंगे, जहां अमेरिका और रुस महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाते है, दोनों देशों के आने वाले दिनों में अफगानिस्तान के घटनाक्रम पर नजर रखने की उम्मीद है।

वीडियो कांफ्रेंसिंग
पीएम मोदी 16 सितंबर को एससीओ मीटिंग में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये शामिल होंगे, वहीं 24 सितंबर को क्वाड की मीटिंग में शामिल होने के लिये अमेरिका का दौरा करेंगे, PM Modi Yogi इससे पहले गुरुवार को पीएम मोदी ब्रिक्स देशों के वर्चुअल समिट की मेजबानी करेंगे, जिसमें रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग शामिल होंगे, इस समिट में एनएसए अजित डोवाल सुरक्षा मुद्दों पर एक प्रजेंटेशन भी देंगे।