गजब! IQ में आइंस्टाइन से भी 2 कदम आगे है 10 साल की लड़की, बसाना चाहती है मंगल पर कॉलोनी

0
5

IQ, अर्थात इंटेलिजेंस भागफल, एक इंसान के आपनी तर्क में समस्याओं को हल करने की क्षमता के पैमाना को बताता हैं। दुनिया में बहुत कम ही लोग होते है, जिसकी IQ लेवल बहुत अच्छी होती हैं। आज हम आपको एक 10 साल बच्ची के बारे में बताएंगे जिनके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे। हम बात कर रहे है मैक्सिको की रहने वाली अधारा जिनका के बारे में, जिसकी IQ ने बड़े-बड़ों को मात दिया और वह बन गई है – सबसे बड़ी जीनियस।

इस बच्ची का पूरा नाम अधारा पेरेज़ सैंशेज़ और इस बच्ची का IQ 162 अंक है, जो दुनिया को हैरान कर दिया है, यह इसलिए क्यूंकि इसकी IQ अंक महान वैज्ञानिक एलबर्ट आइंस्टाइन और स्टीफन हॉकिंग से भी दो प्वाइंट ज्यादा हैं।

10 साल की अधारा बड़ी होकर अंतरिक्षयात्री बनना चाहती है

अधारा ने 3 साल की उम्र में ही पढ़ना सीख लिया था, इसके अलावा वे इतने कम उम्र में 100 टुकड़ों की पहेलियां को भी आसानी से जोड़ लेती थी। छोटी सी उम्र में ही बीजगणित में महारत हासिल करने के बाद सिस्टम इंजीनियरिंग और इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग जैसी डिग्री को भी अपने नाम किया। अपने अचंभित करने वाली छमता के कारण उसे स्कूल में कई बच्चे “weirdo” कहकर चिढ़ाने थे। जब उनका IQ Test कराया गया तो पता चला कि अधारा विलक्षण बुद्धि वाली लड़की हैं। इसलिए उन्होंने 8 साल की उम्र में ही हाईस्कूल पास कर लिया, यहीं नही Monterrey की Universidad CNCI को भी उसने रिप्रेज़ेंट किया हैं। उसका सपना है NASA का स्पेस एक्सप्लोरेशन प्रोग्राम ज्वाइन करना और एक अंतरिक्षयात्री बनना।

आइंस्टाइन का IQ स्कोर 160 है, वही अधारा का उनसे भी 2 अंक ज्यादा है

IQ एक जर्मन भाषा शब्द Intelligenz-Quotient का शॉर्ट फॉर्म हैं। यह एक इंसान की सोचने-समझने की क्षमता को बताता हैं। हमारा दिमाग किसी काम को कितने अच्छे तरीके से, कितनी जल्दी और सटीक निकलता है, ये सब IQ स्कोर या स्तर से तय होता हैं। आपको जानकर हैरानी होगी आइंस्टाइन जैसे विश्वविख्यात साइंटिस्ट्स का IQ स्कोर 160 था, जबकि अधारा का लेवल उनसे भी 2 अंक ज्यादा हैं।

आजकल बहुत सी वेबसाइट्स पर IQ टेस्ट की सुविधा मिलती है

आज हर इंसान अपनी IQ स्कोर जानना चाहता है, ताकि वे अपनी तुलना दूसरे से कर सके। बहुत सी वेबसाइटो पर यह सुविधा उपलब्ध है, जिसमे 5 मिनट में आप अपना IQ कैलकुलेट कर सकते हैं।हालंकि विशेषज्ञ इसके नतीजे हमेशा सही नहीं मानते, बल्कि मनोचिकित्सक को बेहतर मानते हैं। आजकल सही परिणाम के लिए लोग काउंसिलिंग सेंटर या मनोचिकित्सक के पास जाते है, जहां आप अपना आईक्यू टेस्ट करा सकते हैं।