मिलिए दुनिया के इस महान शख्स से, इनकी 38 पत्नियां और हैं 89 बच्चे

0
8

सोशल मीडिया पर कई तरह के खबरे सुनने को मिलते रहते है, कुछ खबरे तो ऐसे होते है, जो किसी को हैरत में डाल दें। जो सुनने में एक बार के लिए लोगो को अचंभित जरूर कर दे, और इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहे। आपकी जानकारी के लिए बता दे, आज हम बात कर रहे है सोशल मीडिया में वायरल हो रही एक बूढ़े व्यक्ति की तस्वीर के बारे में, यह तस्वीर है, मिजोरम के 76 साल के जिओना चाना की। आपको जानकर हैरानी होगी इस इंसान का निधन हो गया है, और इन्होंने अपने पीछे 167 सदस्या का परिवार छोड़ा है, जिससे पूरा परिवार सदमे में हैं।

परिवार के कारण राज्य में पर्यटकों का प्रमुख आकर्षण बन गया था

मिजोरम का यह सबसे बड़ा परिवार राज्य में पर्यटकों का प्रमुख आकर्षण का केंद्र था। इस परिवार में 38 पत्नियां और 89 बच्चे है, इसके अलावा उनके पुत्र वधू और पोते- पोतियां है, जो अपने आप में लोगो को हैरान कर देती थी। जिओना चाना के निधन के लिए शोक प्रकट करते हुए खुद मिजोरम के सीएम जोरमथंगा ने ट्वीट किया,उसमे उन्होंने लिखा कि, “और बकटावंग तलंगनुम में उनका गांव, परिवार के कारण राज्य में पर्यटकों का प्रमुख आकर्षण बन गया था”।

जिओना चाना का घर कैसा प्रबंधित होता था

जिओना चाना के सभी बच्चे और पत्नियां एक ही इमारत के अलग-अलग कमरों में रहते थे। यहीं नही पुरे परिवार का खाना भी एक ही किचन में बनता था। रीयूटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार सभी पत्नियां बारी बारी से अपने बच्चों के लिए खाना बनाती थी, जहां घर की सफाई का जिम्मा सभी बेटियां मिलकर करती थी। वहीं पुरुष खेतीबाड़ी और पशुओं की देखभाल जैसे काम को संभालते थे।

जिओना चाना ने 17 साल की उम्र में ही पहली शादी कर ली थी

खबरों ने अनुसार जिओना की 38 पत्नियां थी, और जिओना ने 17 साल की उम्र में ही पहली शादी कर ली थी, जब उनकी पहली पत्नी उनसे सिर्फ 3 वर्ष बड़ी थी। अभी घर की सारी जिम्मेदारी जिओना की पहली पत्नी निभा रही हैं। वह पहले से ही मुखिया की भूमिका निभाती आई है और सदस्यों के काम का बंटवारा करती आई हैं। निधन के बाद पूरे घर को ध्यान रखने की जिम्मेदारी अब उनके कंधे पर आ गई हैं।

इस परिवार में कुल मिलाकर 167 सदस्य है

जिओना का 167 सदस्य वाला पूरा परिवार चार मंजिला एक इमारत में रहता आया है जिसमें 100 कमरे हैं। चुकी इस घर में सिर्फ एक किचन है, तो 1 दिन का खाना बनाने में लगभग 91 किलोग्राम चावल और 59 किलोग्राम आलू का इस्तेमाल होता हैं।