अजब-गजब : 3000 सालों से चली आ रही है भूतों की शादी कराने की प्रथा

0
12

जब हम अजीबोगरीब किस्सों की बात करते हैं,

दुनियाभर में कई अजीबो गरीब किस्से हैं, तो जन्म मृत्यु या भी शादी विवाह जैसे अजीब किस्से शामिल हैं। कई तरह की शादियों के बारे में आपने सुना और पढ़ा होगा।शादी तो ठीक आपने कई बसर कुछ अटपटे अफेयर के किस्से भी सुने होंगे। पर क्या कभी आपने भूतों की शादी में गए हैं या फिर ऐसी किसी शादी के बारे में सुना है? नहीं ना, तो चलिए आपको एक मजेदार किस्सा बताते हैं। यह असल मे किस्सा नहीं बल्कि चीन का एक रिवाज़ है, जहाँ भूतों की शादी होती है।

कैसे होती है भूतों की शादी

क्या वाकई इस शादी में भूत मौजूद होते हैं? किस वजह से यह शादी कराई जाती है? आपके मन में ऐसे अनगिनत सवाल होंगे। तो आइए जानते हैं इस पूरे किस्से के बारे में।

कहा जाता है यह कुछ 3000 साल पुराना किस्सा है। यह एक प्रचलित रिवाज है जो लगभग 3,000 साल से चला आ रहा है। जो भी लोग इसपर विश्वास करते हैं उनका कहना है कि यह रिवाज दो अविवाहित मृत लोगों के लिए है ताकि वह इस जीवन के बाद अकेले ना रहें। मूल रूप से, मरे हुए लोगों की शादियां जीवीत लोगों द्वारा करवाई जाती थी। दोनों मृत लोगों की शादी आम लोगों की तरह पूरे रीती रिवाज के साथ करवाई जाती है ताकि वह दूसरी दुनिया में अकेले ना रहें।

कैसे होती है यह शादी?
दो मृत लोगों के बीच में कराई जाने वाली इस शादी में, “दुल्हन” का परिवार दुल्हन की कीमत की मांग करता है और दहेज भी लेता है। इस प्रक्रिया में आभूषण, नौकर और एक हवेली शामिल होती है। यह सभी प्रक्रिया कागजी श्रध्दांजलि के रूप में होती है। आपको बता दें इस शादी में उम्र और पारिवारिक पृष्ठभूमि उतने ही अहम होते हैं जितने कि पारंपरिक शादियों में होते हैं, इसलिए परिवार मैच-मेकर के रूप में काम करने के लिए फेंग शुई मास्टर्स को काम पर रखते हैं।

शादी समारोह में आम तौर पर दूल्हा और दुल्हन की अंतिम संस्कार विधि की जाती है और एक भोज किया जाता है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण प्रक्रिया होती है जिसमे दुल्हन की हड्डियों को खोदकर दूल्हे की कब्र के अंदर डालना होता है।

क्यों कराई जाती है भूतों की शादी

शादी के पीछे की वजह हर जगह पर अलग होती है। घोस्ट वेडिंग शोक में डूबे रिश्तेदारों की तरफ से एक श्रध्दांजलि के रूप में होती है, क्योंकि एक मृत दुल्हन को ढूंढना कुछ ऐसा ही है, अपने बेटे के लिए लोग उसी तरह दुल्हन ढूंढते हैं जैसे कोई अपने जीवीत बेटे के लिए ढूंढता है।

इसके पीछे नागरिकों का मानना है कि अगर मृतकों की इच्छा पूरी नहीं हुई तो उन पर दुर्भाग्य टूट पड़ता है। वहीं कुछ लोग मानते हैं भूतों की शादी करने से मृतकों को शांति प्राप्त होती है। भूतों की शादियों के पीछे मूल विचारधारा यह है कि मृतक जीवन के बाद भी अपना जीवन जारी रखते हैं। वहीं अगर किसी ने जिंदा रहते हुए शादी नहीं की, तो उनकी मृत्यु के बाद भी उन्हें शादी करने की जरूरत है।