मैत्री पटेल बनी देश की सबसे यंग कमर्शियल पायलट ,किसान की बेटी ने रच दिया इतिहास

0
8

 

दोस्तों ! दुनिया में काफी कम लोग होते हैं जो काफी छोटी उम्र में ही बहुत बड़े-बड़े सफलताओं को प्राप्त कर लेते हैं। ऐसी ही एक कहानी है मैत्री पटेल की, जिन्होंने काफी कम उम्र में कुछ ऐसा कर दिखाया, जिसकी जितनी भी सराहना की जाए, कम पड़ जाएगी। आज उन्होंने अपने माता-पिता का सर गर्व से ऊपर कर दिया है।

किसान की बेटी मैत्री पटेल बनी देश की सबसे युवा कॉमर्शियल पायलट -  19-year-old-maitri-patel-indias-youngest-commercial-pilot - Nari Punjab  Kesari

हम आपको गुजरात में रहने वाली मैत्री पटेल के बारे में बताने जा रहे हैं। सूरत के शिरडी गांव में रहने वाली 19 साल की बेटी ने छोटी सी उम्र में कमर्शियल पायलट का लाइसेंस हासिल कर पूरे देश में इतिहास रच दिया है । आपको बता दें कि मैत्री भारत की सबसे कम उम्र में बनने वाली कमर्शियल पायलट है। आइए जानते हैं इनकी सफर की कहानी।

किसान की बेटी मैत्री पटेल बनी देश की सबसे युवा कॉमर्शियल पायलट -  19-year-old-maitri-patel-indias-youngest-commercial-pilot - Nari Punjab  Kesari

बात करें मैथिली पटेल के फैमिली बैकग्राउंड की तो मैत्री पटेल के पिता किसान हैं और मैत्री की सफलता के पीछे इनके पिताजी का प्रमुख योगदान है। उन्होंने अपनी बेटी का काफी प्रोत्साहन किया। आपको बता दें कि इनकी माता कारपोरेशन स्कूल में सरकारी कर्मचारी है । आप सभी जानते होंगे कि एक पायलट बनने के लिए काबिलियत के साथ-साथ अच्छी रकम का होना भी बहुत जरूरी है और इसी कारण से मैत्री के पिता ने अपनी बेटी के सपनों को पूरा करने के लिए अपनी पुरानी जमीन को भी बेच दिया।

किसान की बेटी मैत्री पटेल बनी देश की सबसे युवा कॉमर्शियल पायलट -  19-year-old-maitri-patel-indias-youngest-commercial-pilot - Nari Punjab  Kesari

हमारे देश की बेटी मैत्री पटेल ने पायलट की 18 महीने की ट्रेनिंग को महाज 11 महीनों में ही पूर्ण कर लिया, जो अपने आप में काबिल-ए-तारीफ है। यह अपने बचपन से ही पायलट बनने का ख्वाब रखती थी और इनके इस ख्वाब को परिवार का पूर्ण समर्थन प्राप्त था। इन्होंने 12वीं की परीक्षा के बाद ही शुरू कर दी थी पायलट लाइसेंस प्राप्त करने की ट्रेनिंग।

Maitri Patel: पिता किसान हैं, बेटी ने देश की सबसे कम उम्र की कमर्शियल पायलट  बनकर रौशन किया नाम

मैत्री ने बताया कि जब वह 8 साल की थी तभी उन्होंने यह निश्चित कर लिया था कि वह आगे चलकर एक पायलट बनेंगी। अब 19 साल की बहुत ही कम उम्र में इनका सपना पूरा हो गया। मैत्री ने ट्रेनिंग के समाप्त होने के बाद ही अपने पिता को अमेरिका में बुलाकर 3500 फीट की ऊंचाई पर भरी अपनी पहली उड़ान।

सपनों की उड़ान को मिले पंख: किसान की बेटी 19 साल की उम्र में अमेरिका में बनी  पायलट, ऐसी है कामयाबी की कहानी | Gujrat farmers 19 year old daughter from  Surat

मैत्री के अनुसार यह लम्हा उनके लिए बहुत ही खास है, मैत्री ने कहा कि वह आगे चलकर कैप्टन बन कर बोइंग जहाज उड़ाना चाहती हैं। आप सभी को जानकारी के लिए बता दे की मैत्री के माता-पिता उन्हें श्रवण कहकर पुकारते हैं और हिंदू मान्यताओं के अनुसार श्रवण एक आदर्श पुत्र था।