लक्ष्मी अग्रवाल की मासूमियत को देख दिल दे बैठे पत्रकार आलोक दिक्षित, आखिर कब और क्यों हुए अलग??

0
3

अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक, लक्ष्मी अग्रवाल के जीवन पर आधारित है. लक्ष्मी अग्रवाल एसिड वॉर सरवाइवर है. लक्ष्मी अग्रवाल का जन्म 1 जुलाई 1990 में दिल्ली के एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ. अपने बचपन में गाने का बहुत ही शौक था. वह बड़ी होकर एक गाय का बनना चाहती थी. पर किस्मत को कुछ और ही मंजूर था. जब लक्ष्मी अग्रवाल 15 साल की थी. उनकी जिंदगी में एक ऐसा भयानक हादसा हुआ जिसे सहन करना बहुत मुश्किल है.

32 साल के एक सिरफिरा आशिक नइम खान जो लक्ष्मी अग्रवाल से शादी करना चाहता था. पर उन्होंने शादी करने से मना कर दिया. क्योंकि उस समय लक्ष्मी अग्रवाल सिर्फ 15 साल की थी. ज़ब गुस्से में उस व्यक्ति ने लक्ष्मी अग्रवाल पर एसिड डाल दिया. इस हादसे के बाद लक्ष्मी अग्रवाल की पूरी जिंदगी ही बदल गई. पर उन्होंने हिम्मत नहीं हारी. साल 2006 में लक्ष्मी अग्रवाल ने सुप्रीम कोर्ट में एसिड बैन करने के लिए पीआईएल दर्ज की. इसके बाद लक्ष्मी अग्रवाल ने स्टॉप एसिड अटैक अभियान की शुरुआत की.

इस अभियान के तहत ऐसे कई लोगों ने लक्ष्मी अग्रवाल का साथ दिया. इन सब पर भी एसिड अटैक हो चुके थे. एसिड अटैक से पीड़ित लोगों को न्याय दिलाने के लिए और एसिड अटैक सरवाइवर्स के पुनर्वास की मांग करने के लिए उन्होंने भूख हड़ताल की. इसी अभियान के तहत उनकी मुलाकात आलोक दीक्षित से हुई. आलोक दीक्षित ने लक्ष्मी अग्रवाल की इस अभियान के तहत बहुत मदद की.

लक्ष्मी अग्रवाल की मदद से ही एसिड की बिक्री पर अंकुश लगा इसलिए लक्ष्मी अग्रवाल को भारत सरकार ने कई पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. इसी के साथ साल 2014 में लक्ष्मी अग्रवाल को अंतर्राष्ट्रीय महिला सम्मान पुरस्कार, अमेरिका की फर्स्ट लेडी मिशेल ओबामा के द्वारा दिया गया.

स्टॉप एसिड अटैक अभियान के दौरान लक्ष्मी अग्रवाल और आलोक दीक्षित की नजदीकी बढ़ने लगी. आलोक दीक्षित को लक्ष्मी अग्रवाल से प्यार हो गया. वह एक दूसरे के साथ लिव-इन में रहे. पर इन दोनों ने शादी नहीं की. इसी दौरान लक्ष्मी अग्रवाल ने एक बेटी को जन्म दिया. लक्ष्मी ने अपनी बेटी का नाम पीहू रखा. लेकिन अब आलोक दीक्षित और लक्ष्मी अग्रवाल की राहें अलग हो चुकी है.

अपनी बेटी पीहू की परवरिश अकेले लक्ष्मी अग्रवाल ही कर रही है. लक्ष्मी अग्रवाल ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा अब हम साथ में नहीं रहती. पीहू के जन्म के बाद उन्होंने हमसे अलग होने का फैसला ले लिया है. मुझे आलोक से कोई भी शिकायत और परेशानी नहीं है. मैंने उनसे सच्चा प्यार किया है. किसी को प्यार करना उसके हाथ में नहीं होता. प्यार किसी से कब हो जाए पता नहीं चलता.

फिल्म छपाक की रिलीज होने के बाद लक्ष्मी अग्रवाल बहुत ही ज्यादा पॉपुलर हो गई. इस फिल्म में अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने लक्ष्मी अग्रवाल का रोल किया है. इस फिल्म में लक्ष्मी अग्रवाल की दर्द भरी कहानी को उजागर किया गया है. लक्ष्मी अग्रवाल के संघर्ष को देखकर लोगों की आंखों में आंसू आ गए,फिल्म में दीपिका के दमदार अभिनय की प्रशंसा भी की जा रही है ।