पवन सिंह ने अक्षरा सिंह पर एसिड फेंकवाने की कोशिश की थी? बिग बॉस से लौटने के बाद एक्स पर आरोप

0
6

अक्षरा सिंह ने कहा कि इस कठिन दौर में उनके माता-पिता ने उनका साथ नहीं छोड़ा, जहां से मैं आती हूं, अकसर पैरेंट्स लड़कियों को सपोर्ट नहीं करते।

New Delhi, Sep 12 : भोजपुरी एक्ट्रेस अक्षरा सिंह बिग बॉस ओटीटी से लौटने के बाद अब एक बार फिर से अपने काम पर लौट चुकी हैं, लेकिन इससे पहले उन्होने एक बार फिर से अपने एक्स ब्वॉयफ्रेंड पर सनसनीखेज आरोप लगाये हैं, एक्ट्रेसे ने कहा कि उन पर एसिड फेकवाने और करियर को डूबो देने की भरपूर कोशिश की गई थी, हालांकि उन्होने किसी का नाम नहीं लिया है।

इंटरव्यू में खुलकर बोली
ये सारी बातें अक्षरा ने एक इंटरव्यू में की है, जब उनसे को-कंटेस्टेंट प्रतीक के फ्लिप करने और बाकी के कंटेस्टेंट की गेम के बारे में पूछा गया, तो उन्होने कहा कि यहां पर सच कुछ नहीं होता, बस सब दिखावटी करते हैं, जनता सब जानती है, इसके बाद एक्ट्रेस ने खुद की रिलेशनशिप के बारे में बात करते हुए कहा कि उन्हें अपने ऊपर गर्व है ये सब सिर्फ मेरी खुद की ताकत की वजह से हो पाया, मैंने अपने जिंदगी में बहुत सी मुसीबतों का सामना किया, उससे लड़ी भी हूं, आज मुझे ज्यादातर लोग बिग बॉस और मेरी हिम्मत की वजह से जानते हैं।

माता-पिता ने साथ नहीं छोड़ा
अक्षरा सिंह ने कहा कि इस कठिन दौर में उनके माता-पिता ने उनका साथ नहीं छोड़ा, जहां से मैं आती हूं, अकसर पैरेंट्स लड़कियों को सपोर्ट नहीं करते, उनकी लड़की मनोरंजन जगत को ज्वाइन करे और रिलेशनशिप जैसे मामलों में तो वो अपनी लड़की को छोड़ देते हैं, Akshara Singh लेकिन मैं खुद को भाग्यशाली मानती हूं कि मेरे माता-पिता ने मुझे सपोर्ट किया।

डिप्रेशन में चली गई थी
अपने शराब रिलेशनशिप की वजह से मैं डिप्रेशन में चली गई थी, मुझे ये सोचकर बहुत बुरा लगता है कि मैं इसे बयां नहीं कर सकती हूं, मेरे पिता ने मुझसे कहा, कि एक पिता होने के नाते मैं ये कह रहा हूं, कि अगर तुम्हें ऐसे ही जीना है, तो इसे खत्म कर दो, अहर नहीं चाहती हो, तो इससे बाहर निकलो, अगर तुम अपनी लाइफ को खत्म करना चाहती हो, तो खत्म कर दो, मैं तुम्हें नहीं रोकूंगा, मुझे कोई अफसोस नहीं होगा, अगर जीना चाहती है, तो पास्ट से बाहर निकलो, पीछे फिर कभी मत देखना, मैं तुम्हारे साथ हूं। अपने एक्स का नाम लिये बिना अक्षरा ने आरोप लगाते हुए कहा मुझे खूब धमकियां मिली, यहां तक कि करियर खराब कर देने की बातें कही गई, लेकिन मेरे पापा की बातों ने मुझे ताकत दे दी थी, तो मुझे इससे फर्क नहीं पडा, मैं बिल्कुल नहीं डरी, मैं सामना करने के लिये तैयार थी, सोच रही थी कि ज्यादा से ज्यादा मारोगे ही ना, मार लो।