इस महिला ने 5 साल में छोड़ी 9 सरकारी नौकरियां, अब बनेगी IAS अधिकारी

0
14

पुराने समय में जहां महिलाओं को घर की चारदीवारी के बीच रखा जाता था वही आज के समय महिलाओं ने पूरे विश्व में अपनी मेहनत और लगन का लोहा मनवाया है। आज के समय महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से कम नहीं है चाहे वह पढ़ाई की बात हो या खेल की बात हो या फिर कोई अन्य क्षेत्र। आज के समय स्थिति ऐसी है कि पुरुष भी महिलाओं को अपना कठोर प्रतिद्वंदी मानते हैं।

आज आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताते हैं जिसने अपने मेहनत और लगन के बलबूते सिर्फ 5 साल में 9 सरकारी नौकरी हासिल की अब उस महिला का सपना आईएएस बनने का है। आइए जानते हैं कौन है यह महिला और किस तरह इसने अपनी तैयारी की।

हम बात कर रहे हैं राजस्थान के रहने वाली प्रमिला की जिसने अपने मेहनत और लगन के बलबूते ऐसी उपलब्धि हासिल कर ली जिन्हें पाना हर किसी के बस की बात नहीं होती है। राजस्थान की रहने वाली प्रमिला का भाई दिल्ली पुलिस में कार्यरत है। प्रमिला ने अपने मेहनत के बलबूते पिछले 5 सालों में 9 सरकारी नौकरियां हासिल किए हैं। सामान्य बात करें तो किसी भी शख्स के लिए एक सरकारी नौकरी लगना बहुत बड़ी बात होती है।

आपको बता दें कि प्रमिला ने पटवारी, ग्राम सेवक, शिक्षक पात्रता परीक्षा, महिला पर्यवेक्षक, पुलिस कांस्टेबल, एलडीसी जैसे प्रतिष्ठित परीक्षा में सेलेक्ट हो चुकी है।। राज्य लोक सेवा आयोग स्कूली व्याख्याता भर्ती में 9वीं रैंक हासिल कर अपनी मेहनत पर चार चांद लगा दिए हैं। आपको बता दें कि प्रमिला के पति दिल्ली पुलिस में नौकरी करते हैं।

एक इंटरव्यू के दौरान प्रमिला ने बताया कि जब वह पढ़ाई करती थी उस समय सोशल मीडिया पर बहुत ही कम एक्टिव रहती थी उनके पास सिर्फ एक छोटा सा मोबाइल था जिसमें इंटरनेट भी नहीं चलता था। प्रमिला नहीं किताबों को अपना दोस्त बनाया जिसके बलबूते उन्होंने आज यह मुकाम हासिल किया है।

प्रमिला ने कहा कि अगर हम सच्चे मन से और मेहनत से कुछ हासिल करते हैं तो अपने जीवन में इससे बड़ी कोई उपलब्धि नहीं होती है। प्रमिला इतनी नौकरियों को पास करने के बाद अब आई एस की परीक्षा देना चाहती है और इसके लिए बहुत अधिक मेहनत कर रही है। आपको बता दें कि प्रमिला की यह मेहनत और लगन एक दिन उसे आईएएस अधिकारी बनने से रोक नहीं पाएगी।