DSP हीरालाल सैनी की जयपुर में तैनाती के दौरान हुई थी महिला कांस्टेबल से दोस्ती, गलती से वीडियो वायरल

0
9

अश्लील वीडियो मामले में निलंबित डीएसपी हीरालाल सैनी को शनिवार को जयपुर में एसओजी ने पॉक्सो मामले की विशेष कोर्ट में पेश किया, कोर्ट ने सैनी को 17 सितंबर तक रिमांड पर सौंप दिया।

New Delhi, Sep 12 : राजस्थान पुलिस के निलंबित डीएसपी और महिला कांस्टेबल ने बेशर्मी की सारी हदें पार कर दी थी, हीरालाल सैनी की महिला कांस्टेबल से पिछले 5 साल से दोस्ती थी, सैनी की जयपुर में तैनाती के दौरान दोनों में दोस्ती हुई थी, जिसके बाद नजदीकियां बढी, जिससे महिला कांस्टेबल के वैवाहिक जीवन में कड़वाहट घुलती चली गई।

एसओजी के पास मामला
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल ने शनिवार को झुंझनूं जिले के गुढागौड़ बडगांव निवासी निलंबित सीओ हीरालाल सैनी से पुष्कर की एक होटल के कमरा नंबर 502 की घटनास्थल के रुप में तस्दीक कराई, इससे पहले सैनी को ब्यावर सीओ कार्यालय भी ले जाया गया। अब तक की पूछताछ में हीरा लाल सैनी ने वीडियो पुष्कर के एक होटल में 10 जुलाई को बनाया गया था, उसे वीडियो बनाये जाने की जानकारी थी, लेकिन गलती से वीडियो वायरल हो गया।

कोर्ट में पेश
अश्लील वीडियो मामले में निलंबित डीएसपी हीरालाल सैनी को शनिवार को जयपुर में एसओजी ने पॉक्सो मामले की विशेष कोर्ट में पेश किया, कोर्ट ने सैनी को 17 सितंबर तक रिमांड पर सौंप दिया, एसओजी ने आरोपी सैनी को शनिवार दोपहर करीब 3 बजे पॉक्सो कोर्ट की पीठासीन अधिकारी रेखा शर्मा के आवास पर पेश किया, एसओजी ने कहा कि उन्हें वीडियो की असली कॉपी जब्त करने के साथ पूछताछ करनी है, ऐसे में उसको रिमांड पर सौंपा जाना चाहिये।

सीएम ऑफिस से जुड़े तार
आरएलपी संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने आरोप लगाया कि हीरालाल सैनी के तार सीएम ऑफिस से जुड़े हुए हैं, पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिये, ताकि दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई हो सके, बेनीवाल ने कहा कि इस मामले में राजस्थान पुलिस का दोहरा चरित्र सामने आया है। प्रकरण में बालक के यौन शोषण को लेकर जानकारी पुलिस को नहीं दी गई है, मामले में लापरवाही मानते हुए एसपी ने एएसपी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।