FACT CHECK : नंदी की मूर्ति मिलने पर खड़े हुए थे कई सवाल, जानिए कहां से मिली मूर्ति

0
4

भारत में अक्सर खुदाई करने पर देवताओं की मूर्तियां मिलतीं रहती हैं। यह बहुत ही आम बात है। कभी-कभी खुदाई के दौरान देवी-देवताओं की पुरानी मूर्तियां मिलती हैं जिसे लोग मंदिर में स्थापित करके पूजने लगते हैं। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें नंदी की मूर्ति को जमीन से निकलते देखा जा सकता है।

कई सोशल मीडिया यूजर ने तस्वीर को ट्विटर और फेसबुक पर शेयर करते हुए दावा किया की यह मूर्ति मस्जिद से मिली है। ट्विटर यूजर राजीव तुली ने इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा “हर मजार मस्जिद की यही सच्चाई है”। यही दावा करते हुए कई यूज़र्स ने इस पोस्ट को शेयर किया है।

कहाँ से मिली मूर्ति

इस फोटो की लेकर कई रिपोर्ट्स और पोस्ट भी मिले।  ‘लॉस्ट टेम्पल्स’ नाम के आकाउंट से ट्विटर पर इस फ़ोटो शेयर करते हुए लिखा गया “नमक्कल जिला मोहनूर अरियूर अरुलमिगु  के सेलंदियाम्मन(Sellandiamman)  मंदिर में कल जब उन्होंने परिसर की दीवार को फैलाने के लिए जमीन खोदी तो उन्हें एक बड़ी नंदी मूर्ति मिली”। इस ट्वीट को 4 सितंबर को किया गया था।

तमिल समाचार वेबसाइट  ‘Dinamalar’  के रिपोर्ट में यह जानकारी मिली कि यह रिपोर्ट 2 सितंबर को तमिल समाचार वेबसाइट ने अपलोड की थी। इस तस्वीर को ट्वीटर पर डालते हुए उन्होंने लिखा “1,000 साल पुरानी नंदी की मूर्ति की खोज”।

विकटन नाम की तमिल न्यूज़ वेबसाइट ने भी इस तस्वीर को अपलोड किया है, Puthiya thalaimurai TV चैनल ने भी इस पर खबर दिखाते हुए बताया की यह मूर्ति एक मंदिर के खुदाई में मिली है।

तो अब यह बात साफ है तस्वीर के साथ किया गया दावा फर्जी है, यह मूर्ति तमिलनाडु के नमक्कल स्थित एक मंदिर की खुदाई में मिली है, इसका किसी मस्जिद से कोई लेना देना नहीं है।