चीन को लद्दाख से पीछे हटाने के लिये पीएम मोदी ने अपने इस स्पेशल आदमी को दी थी जिम्मेदारी

0
276

आज चीन लद्दाख को छोड़कर के वापिस उलटे पाँव भाग चुका है और वाकई में चीन ने ये जो कुछ भी किया है वो कुछ एक हफ्तों का खेल था. उनसे कोशिश तो बड़ी की थी कि वो भारत पर हावी हो जाए लेकिन ऐसा हो नही सका और ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि भारत ने बहुत ही अग्रेसिव तरीके से काम किया. वैसे तो पीएम मोदी है तो उनको क्रेडिट जाता है लेकिन असल में जो भी काम हुआ है उसके पीछे का कलाकार कोई और है और उसे भारत का जेम्स बांड कहा जाता है.

हम बात कर रहे है अजीत डोभाल की जो कि भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार है. कई मीडिया रिपोर्ट्स से ये साफ़ हुआ है कि चीन ने जब लद्दाख में घुसने के प्रयास किये तब से ही अजीत डोभाल पीएम मोदी की कई मीटिंग्स का अहम् हिस्सा बने थे और क्योंकि उनके पास में देश विदेश से लेकर पुलिस फ़ौज हर चीज का एक्सपीरियंस है

तो इस वजह से मुख्य तौर पर जिम्मेदारी उन पर ही आती है जिस कारण से डोभाल ने चाहे चिनूक लद्दाख भेजना हो या फिर अपनी आर्टिलरी तैनात करनी हो कई ऐसी रणनीति बनाई जिसके कारण चीन जिस जगह तक भारत को चकमा देकर के घुसा था वही पर फंस कर के रह गया और उसके लिए एक कदम तक बढ़ाना मुश्किल हो गया.

माना कि जो किया वो जवानो ने किया लेकिन उन्हें कहाँ से कैसे क्या करना है और पूरे एरिया का मेनेजमेंट कि किस तरह से चीनियों को रोकना है इसकी लीडरशिप किसी के हाथ में तो होगी? जो तय करेगा कि किस तरह से हमारे जवान रिस्पोंड करेंगे? बस फिर तो कूटनीतिक दबाव भी पड़ा और महज कुछ ही दिनों में चीन की हालत पतली हो गयी जिसके चलते चीन को वापिस उलटे पाँव भागना पड़ा जो कि एक अच्छी खासी और बड़ी उपलब्धि है.