बीजेपी राष्ट्रीय कार्यसमिति में वरुण और मेनका गांधी को नहीं मिली जगह, नई चर्चा शुरु

0
14

वरुण गांधी पिछले कुछ समय से लगातार किसान आंदोलन को लेकर बीजेपी सरकार पर अपने ट्वीट्स के जरिये निशाना साध रहे हैं, लखीमपुर मामले को लेकर वरुण ने खुलकर किसानों का पक्ष लिया, तथा योगी सरकार को कटघरे में खड़ा किया।

New Delhi, Oct 07 : बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राष्ट्रीय कार्यसमिति की घोषणा कर दी है, इसके साथ ही कार्यसमिति के लिये विशेष आमंत्रित तथा स्थायी आमंत्रित सदस्यों की भी घोषणा की गई है, बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यसमिति में पीएम नरेन्द्र मोदी, लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी समेत 80 नेताओं को जगह दी गई है, लेकिन इस टीम में मेनका गांधी और उनके बेटे वरुण गांधी को जगह नहीं दी गई है।

कार्यसमिति की घोषणा
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के 1 साल 9 महीने बाद नड्डा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यसमिति की घोषणा की है, इस टीम में पीएम मोदी समेत वरिष्ठ नेता आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी को जगह दी गई है, वहीं पहली बार केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, बॉलीवुड एक्टर मिथुन चक्रवर्ती, मेट्रोमैन ई श्रीधरन, अन्नपूर्णा देवी को भी जगह दी गई है, खास बात ये है कि पिछले कुछ समय से बागी तेवर दिखाने वाले वरुण गांधी को इस टीम में जगह नहीं दी गई है।

पार्टी लाइन से अलग बयान
आपको बता दें कि वरुण गांधी पिछले कुछ समय से लगातार किसान आंदोलन को लेकर बीजेपी सरकार पर अपने ट्वीट्स के जरिये निशाना साध रहे हैं, लखीमपुर मामले को लेकर वरुण ने खुलकर किसानों का पक्ष लिया, Varun gandhi तथा योगी सरकार को कटघरे में खड़ा किया, सूत्रों की मानें तो बीजेपी नेतृत्व ने वरुण के इस रवैये को काफी गंभीरता से लिया है, राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में उनको और उनकी मां मेनका गांधी को स्थान ना देकर साफ संदेश दे दिया है।

344 सदस्य
इस कार्यसमिति में पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह, अमित शाह, नितिन गडकरी के साथ सभी प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश संगठन मंत्री, BJP Flags सह संगठन मंत्री, बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्रियों तथा पूर्व मुख्यमंत्रियों को जगह दी गई है, कुल 344 सदस्यों की ये कार्यसमिति बनाई गई है।