मनीष गुप्ता केस में सामने आया रात का CCTV फुटेज, इंस्पेक्टर की करतूत देखिये

0
12

एक निजी न्यूज चैनल द्वारा दिखाये जा रहे सीसीटीवी फुटेज में 27 सितंबर की रात 12.10 बजे तत्कालीन चौकी इंचार्ज अक्षय मिश्रा बेजान से मनीष को कमरे से बाहर लेकर आये थे।

New Delhi, Oct 07 : कानपुर प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की गोरखपुर के होटल में पीट-पीटकर हत्या मामले में अब सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, इस फुटेज में मनीष गुप्ता के शरीर में कोई हरकत होती नहीं दिख रही है, मनीष को होटल के कमरे से लाउंज में लाया गया, तब मौके पर इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह भी मौजूद थे, दरअसल मनीष को 27 सितंबर की रात जब पुलिस वाले कमरा नंबर 512 से बाहर लाये, तो उनके शरीर में कोई हरकत नहीं थी, मौके पर मौजूद इंस्पेक्टर जेएन सिंह ने ही बेजान से मनीष को दूसरे दरोगा और अन्य पुलिस वालों के साथ लिफ्ट से नीचे भिजवाया, ये सीसीटीवी फुटेज अब एसआईटी के कब्जे में है।

लिफ्ट से भेजा
एक निजी न्यूज चैनल द्वारा दिखाये जा रहे सीसीटीवी फुटेज में 27 सितंबर की रात 12.10 बजे तत्कालीन चौकी इंचार्ज अक्षय मिश्रा बेजान से मनीष को कमरे से बाहर लेकर आये थे, इसके बाद वो नीचे उतर गये, साथ में मौजूद दूसरे दरोगा ने अन्य पुलिस वाले तथा होटल के दो स्टाफ से मनीष के हाथ-पैर पकड़वाकर होटल की लिफ्ट से नीचे उतरवाया।

हाथ –पैर पकड़े थे
बताया जा रहा है कि करीब 12 बजे के आसपास इंस्पेक्टर जेएन सिंह, अक्षय मिश्रा के साथ होटल कृष्णा पैलेस में पहुंचे थे, manish murder case (4) कमरे में सवाल-जवाब के बीच जो हालत हुए हों, लेकिन कमरा नंबर 512 के बाहर का नजारा साफ है, जिसमें साफ दिख रहा है कि पुलिस वाले मनीष का हाथ-पैर पकड़कर बाहर आ रहे हैं।

फुटेज एसआईटी के पास
इस फुटेज में एक दरोगा ने तौलिया रिसेप्शन पर खड़े एक शख्स को दे दिया, आपको बता दें कि 512 नंबर कमरे में एक तौलिया मिला था, जो खून से सना हुआ था, माना जा रहा है कि कहीं ये वही तौलिया तो नहीं है, जो रिसेप्शन पर खड़े शख्स को दरोगा ने दिया था, फिलहाल सभी सीसीटीवी फुटेज एसआईटी के कब्जे में है।