गाँव वालों ने करदी थी अजय देवगन की, अजय के पिता वीरू लेकर पहुँच गये 200 लोगों की टोली

0
35

अजय देवगन बॉलीवुड के जाने माने सुपरस्टार हैं. अजय देवगन के पिता वीरू देवगन एक बहुत बड़े फ़िल्म डायरेक्टर थे. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि साल 1992 में अजय देवगन ने अपनी पहली फ़िल्म की थी जिसका नाम फूल और काटे था. इस फ़िल्म को लोगो ने बहुत ज्यादा पसन्द किया. अजय देवगन के लिए यह एक ड्रीम फ़िल्म थी क्योंकि इसी फिल्मे से अजय देवगन के जीवन की शुरुआत हुई थी. अजय देवगन के पिता एक एक्शन सीन डायरेक्टर थे , पिता के गुण अजय देवगन में भी थे इसी के चलते अजय देवगन अपनी हर फिल्म में बहुत अच्छे-अच्छे एक्शन सीन करते हैं.

एक्शन सीन के लिए है मशहूर लेकिन हो गया इनके साथ ही रियल एक्शन

अजय देवगन को जाना भी एक्शन सीन की वजह से ही हैं. हालहि में कुछ दिनों पहले अजय देवगन के बारे में खबर बाहर आई है कि अजय देवगन को किसी गाँव के 25-30 लोगो ने मिलकर एक साथ पिटाई की थी. बताया जा रहा हैं जैसे ही यह बात अजय देवगन के पिता वीरू देवगन को पता चली तो वह गुस्से में आकर लगभग 200 आदमी लेकर अपने बेटे को बचाने पॉच गए. आइए आपको बताते हैं कि क्या है पूरा सच ओर ऐसा क्या हो गया था जिसकी वजह से लोगो ने अजय देवगन की पिटाई कर दी.

शो में इंटरव्यू के दौरान हुआ इस बात का खुलासा , बेटे की हालत देखकर वीरू हुए आग-बबूले

अजय देवगन हालहि में एक शो में गए थे जिसके नाम ‘ यारो की बारात ‘. इस शो को डायरेक्टर साजिद खान और एक्टर रितेश देशमुख होस्ट करते हैं. कुछ दिनों पहले अजय देवगन ओर उनके सबसे खास मित्र माने जाने वाले संजय दत्त दोनो साथ इस शो में गए थे. शो के दौरान डायरेक्टर साजिद खान ने इस घटना का खुलासा किया ओर यह भी बताया कि कैसे वीरू देवगन अपने बेटे को बचाने के लिए अपने साथ गाड़ी में 200 से भी ज्यादा लोग भर के लाए थे.

हुआ कुछ ऐसा की उड़ गए अजय देवगन के होश

मामला कुछ ऐसा था कि अजय देवगन , साजिद खान और उनके ओर भी मित्र अजय की जीप में घूमने के लिए निकले थे. सारे दोस्त जीप में बहुत एन्जॉय कर रहे थे लेकिन फिर अजय देवगन की गाड़ी के सामने एक बच्चा दौड़ता हुआ आ गया जिसके चलते अजय देवगन ने तुरंत ब्रेक लगा लिए. अजय की गाडी उस बच्चे के अड़ी भी नही लेकिन फिर भी वह बच्चा डर के कारण रोने लगे गया. इस बच्चे की आवाज सुनकर गाँव के सभी लोग आ गए और अजय देवगन को बुरा भला सुनाने लग गए जबकि गाडी बच्चे के बिल्कुल अड़ी भी नही थी.

टूट पड़े गाँव के लोग अजय देवगन पर , पिता को पता चलते ही आज गए बेटे को बचाने

जैसे ही बच्चे ने हल्ला मचाया तो गाँव के लगभग 30 जने जमा हो गए. सभी ने अजय देवगन को घेर लिया और बोलने लगे कि यह गाँव है यहाँ अमीरों की तरह तेज गाड़ी चलाना बिल्कुल मना हैं. इतनी ही देर में भीड़ में से एक आदमी निकला और अजय देवगन के थपड लगा दिया. ऐसा होते ही अजय देवगन ने तुरंत अपने पिता वीरू देवगन को फ़ोन किया. जैसे ही वीरू देवगन को पता चला की उनका बेटा अजय मुसीबत में है तो वह अपने बेटे को बचाने के लिए तुरंत 200 से भी ज्यादा लोग लेकर निकल गए. वीरू देवगन जैसे ही वहाँ पौचे तो सभी लोग डर गए ओर वहाँ से भाग गए. उस दिन तो अजय देवगन के पिता ने उनकी जान बचा ली. इस पूरी बात का खुलासा डायरेक्टर साजिद खान खान ने किया था.