मर्चेंट नेवी में रहते हुए UPSC की तैयारी, भारत के लिये मेडल भी जीत चुके हैं लखीमपुर SP विजय ढुल

0
50

विजय ढुल 2012 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं, वो मूल रुप से हरियाणा के सोनीपत जिले के गांव रासोई के रहने वाले हैं।

New Delhi, Oct 08 : यूपी का लखीमपुर जिला पिछले कुछ दिनों से जबरदस्त सुर्खियों में हैं, यहां एक घटना में 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी, मामला यहां के बीजेपी सांसद और केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी से जुड़ा है, इसलिये हाइप्रोफाइल बन गया, जिले में धारा 144 लगाया गया था, मामले को काबू करने की जिम्मेदारी जिले के पुलिस कप्तान विजय ढुल के कंधों पर थी, आइये आपको बताते हैं कि कौन हैं आईपीएस विजय ढुल।

2012 बैच के आईपीएस
विजय ढुल 2012 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं, वो मूल रुप से हरियाणा के सोनीपत जिले के गांव रासोई के रहने वाले हैं, विजय ने सोनीपत से ही स्कूलिंग करने के बाद दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से बीए किया, वो बचपन से ही पढाई में होशियार थे।

मर्चेंट नेवी में चयन
ग्रेजुएशन के बाद उनका चयन मर्चेंट नेवी में हो गया, मर्चेंट नेवी में नौकरी करते हुए उन्होने यूपीएससी की तैयारी शुरु की, उनकी मेहनत रंग लाई, और 2012 में उन्होने यूपीएससी परीक्षा पास कर ली, वो आईपीएस अधिकारी बन गये।

स्पोर्ट्समैन
विजय ढुल ना ही सिर्फ एक तेजतर्रार आईपीएस अधिकारी हैं, बल्कि एक शानदार स्पोर्ट्समैन भी हैं, वो डिस्कस थ्रो के ट्रेंड प्लेयर हैं, 2019 में चीन में आयोजित वर्ल्ड पुलिस गेम्स में ब्रांज मेडल जीतकर देश और यूपी पुलिस का नाम रौशन किया था। नोएडा, मेरठ, बस्ती, लखनऊ और सिद्धार्थ नगर जैसे जिलों में रहने के बाद फिलहाल वो लखीमपुर के पुलिस अधीक्षक हैं।