लखीमपुर केस के बाद भी कांग्रेस की वापसी बड़ी गलतफहमी, प्रशांत किशोर ने कही बड़ी बात

0
10

प्रशांत किशोर ने ट्विटर पर लिखा, जिन लोगों को लगता है कि लखीमपुर कांड की वजह से कांग्रेस की अगुवाई में विपक्ष त्वरित वापसी करेगा, वो गलतफहमी में है।

New Delhi, Oct 08 : लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद प्रियंका गांधी वाड्रा और उनके भाई राहुल गांधी के एक्टिव रिस्पॉन्स को देखते हुए ये कहा जाने लगा कि इससे कांग्रेस पार्टी में नई जान फूंक दी है, इस बीच चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने एक ट्वीट कर उसी कांग्रेस पर निशाना साधा है, जिसमें कुछ दिन पहले तक उनके शामिल होने की बात कही जा रही थी, पीके ने लखीमपुर हिंसा के बाद की राजनीतिक गतिविधियों को कांग्रेस की वापसी के तौर पर देखे जानो को गलतफहमी बताया है।

क्या लिखा
प्रशांत किशोर ने ट्विटर पर लिखा, जिन लोगों को लगता है कि लखीमपुर कांड की वजह से कांग्रेस की अगुवाई में विपक्ष त्वरित वापसी करेगा, वो गलतफहमी में है, बता दें कि रिपोर्ट के अनुसार प्रशांत किशोर और कांग्रेस के बीच बातचीत अब टूट चुकी है, pk पीके ममता बनर्जी के लिये परदे के पीछे रहकर काम कर रहे हैं।

कांग्रेस का नाम नहीं
खास बात ये है कि पीके ने इस ट्वीट में कहीं भी कांग्रेस का नाम नहीं लिया है, हालांकि उन्होने ट्वीट में कांग्रेस की बजाय जोओपी यानी ग्रैंड ओल्ड पार्टी लिखा है, जिससे साफ है कि उनका इशारा कांग्रेस की ओर ही है, pk 2 पीके ने ये भी लिखा है कि दुर्भाग्य से ग्रैंड ओल्ड पार्टी की गहरी समस्या और ढांचागत कमजोरी का कोई तात्कालिक समाधान नहीं है।

टीएमसी के लिये कर रहे काम
बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद पीके ने औपचारिक तौर पर ये ऐलान कर दिया, कि वो ममता बनर्जी के लिये काम नहीं कर रहे हैं, हालांकि इस बीच के कुछ घटनाक्रमों से ये संकेत मिले हैं, कि mamta PK कांग्रेस से बातचीत टूटने के बाद पीके परदे के पीछे रहकर ममता बनर्जी के लिये काम कर रहे हैं, हाल ही में गोवा के पूर्व सीएम तथा कांग्रेस नेता लुइजिन्हो फेलेरो टीएमसी में शामिल हुए, फेलेरो ने आधिकारिक तौर पर ये बयान दिया था कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर और उनकी कंपनी आईपैक ने उनसे ममता बनर्जी की पार्टी यानी टीएमसी में शामिल होने के लिये संपर्क किया था।