लखीमपुर: बीजेपी के सहयोगी दल ने उठाई भाजपा नेता अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को गिरफ्तार करने की मांग

0
10

उत्तर प्रदेश: लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को बीते 75 घंटे से ज्यादा समय हो चुका है लेकिन मामले में अबतक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी तो दूर किसानों को कुचलने वाले या फिर अन्य चार लोगों की जान लेने वाले आरोंपियों की पहचान तक नहीं हो पाई है. ऐसे में पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठना तो लाजमी है.

अपना दल ने कि गिरफ्तारी की मांग

घटना के बाद से ही विपक्षीदल लगातार बीजेपी और मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ को लेकर हमलावर है. लेकिन विपक्षी दल के साथ-साथ अब बीजेपी से उसके अपने सहयोगी दल भी नाराज होने लगे हैं. बीजेपी की सहयोगी पार्टी अपना दल के कार्यकारी अध्यक्ष आशीष पटेल ने केंद्रिय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को गिरफ्तार करने की मांग की है. मामले में आशीष मिश्रा समेत दर्जनों लोगों को आरोपी बनाया गया है. आशीष के खिलाफ दंगे भड़काने के साथ ही लापरवाही से गाड़ी चलाने और हत्या का केस दर्ज किया गया है.

घटना के वीडियो आए सामने 

हिंसा से जुड़े अलग-अलग दस से ज्यादा वीडियो सामने आ चुका है. जिसमें किसानों पर गाड़ी चढ़ाने का वीडियो सहित गाड़ी से निकलकर भागते शख्स का विडियो भी शामिल है. बताया जा रहा है कि गाड़ी से निकलकर भागता हुआ शख्स सुमित है. सुमित का कहना है कि उनकी गाड़ी पर पथराव हो रहा था, जिससे गाड़ी कंट्रोल से बाहर हो गई और हादसा हो गया. हादसे में कुल चार लोगों की मौत गाड़ी चढ़ने से हुई थी. इसके बाद हुई हिंसक घटना में चार अन्य लोगों की भी मौत हुई, जिसमें तीन बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता और एक स्थानीय पत्रकार शामिल है.

चर्चा में गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा 

घटना को लेकर बीजेपी सांसद और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा और उनके बेटे आशिष मिश्रा का नाम काफी चर्चा में हैं. बता दे कि घटना में अजय मिश्रा के बेटे को नामजद आरोपी बनाया गया है. आशिष मिश्रा के उपर प्रदर्शन कर रहें किसानों के उपर गाड़ी का आरोप है. घटना के बाद से हि विपक्षी पार्टियां लगातार मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे और उनके बेटे की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं लेकिन सुत्रो की माने तो अजय मिश्रा मंत्री पद पर काम करते रहेंगे.