कुँवारी माँ की बेटी थी रेखा, ताउम्र पिता से नहीं की बात, अंतिम समय में भी नहीं हुई शामिल।

0
15

हिंदी सिनेमा की बेहद मशहूर अदाकारा रेखा हमेशा से ही अपनी अदाकारी और फिल्मों के साथ अपनी निजी ज़िंदगी को लेकर भी सुर्खियों में रही हैं. उनकी निजी ज़िंदगी के किस्से किसी से भी छिपे नहीं हैं. गुजरे दौर में बॉलीवुड पर राज करने वाली रेखा की निजी ज़िंदगी हर समय काफी सुर्ख़ियों में रही हैं.

रेखा का कई एक्टर्स के साथ नाम जुड़ा लेकिन रिश्ता मंजिल तक नहीं पहुंच सका. वहीं शादी भी हुई तो पति से सालभर के अंदर ही तलाक हो गया. फ़िल्मी दुनिया में कदम रखने से पहले ही रेखा की निजी ज़िंदगी चर्चा में आ गई थी. वे कहती है कि उन्हें उनके पिता का प्यार नहीं मिल सका. बता दें कि बहुत छोटी उम्र में ही रेखा ने मां के कहने पर फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था.

बता दें कि रेखा एक फ़िल्मी बैकग्राउंड से संबंध रखती थीं. एक्ट्रेस की मां का नाम पेंटापडु पुष्पावल्ली था जो कि एक अभिनेत्री थीं वहीं उनके पिता एक फिल्ममेकर थे जिनका नाम जेमिनी गणेशन था. जेमिनी गणेशन तमिल सिनेमा का एक बड़ा नाम रहे हैं. साल 1947 में रेखा के पिता का फ़िल्मी दुनिया में सफर फिल्म ‘मिस मालिनी’ से हुआ था.

रेखा के पिता ने 4 शादियां की थी. जब वे 19 साल के थे तब उनकी पहली शादी अलामेलु से हुई थी. दोनों 4 बेटियों के माता-पिता बने जिनका नाम रेवती, कमला, जयलक्ष्मी और नारायणी है. फिर जेमिनी की दूसरी शादी अभिनेत्री पुष्पावली से हुई थी. रेखा के जीवनी में एक किताब के अनुसार रेखा शादी से पहले ही जन्म ले चुकी थी। रेखा की माताश्री पुष्पावाली भी तमिल फिल्मो की अभिनेत्री थी। एक साथ काम करते करते उन्हें जैमिनी से प्यार हो गया। प्यार इस कदर आगे बढ़ गया कि पुष्पावाली गर्भ से हो गई। शादी के बाद रेखा के पेरेंट्स ने एक और बच्ची को जन्म दिया, जिनका नाम आज राधा है।

रेखा के कभी भी पिता के साथ संबंध अच्छे नहीं रहे. रेखा ने कहा था कि, उनके जीवन में उनके पिता का ज्यादा प्रभाव नहीं रहा. जेमिनी बहुत कम ही अपनी बेटियों राधा और रेखा से मिलते थे.

एक बार एक साक्षात्कार में रेखा की सौतेली मां अलामेलु की बेटी नारायणी ने रेखा से हुई पहली मुलाकात को लेकर कहा था कि, ‘वो सुंदर थी और उसकी आंखों में काजल लगा हुआ था. उसका नाम भानुरेखा रखा गया. मैंने पूछा ‘तुम्हारे पिता का नाम क्या है?’ उसने कहा, ‘जेमिनी गणेशन’. मेरी आंखें आंसुओं से भर गईं. ऐसे कैसे हो सकता है? वह मेरे पिता थे’.

वहीं रेखा ने एक बार अभिनेत्री सिमी ग्रेवाल के टॉक शो में बात करते हुए कहा था कि, ‘जब मैं बच्ची थी तब वो बाहर चले गए थे, मुझे वो समय याद नहीं है. हमें कभी भी ये आभास नहीं हुआ कि कुछ भी सामान्य या बेकार था. मां कभी रोती नहीं थी कि मेरे पति ने मुझे छोड़ दिया है. वह उनके बारे में अच्छी बातें करती थीं. पागल थी वो उनके प्यार में.’

बता दें कि जेमिनी गणेशन ने सावित्री से तीसरी और साल 1998 में जुलियाना एंड्रयू से चौथी शादी की थी. रेखा अपने पिता से किस कदर नफ़रत करती थी इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वे गणेशन के अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं हुई थी. जेमिनी ने इस दुनिया को 22 मार्च 2005 को 84 साल की उम्र में अलविदा कह दिया था.