निहायती लापरवाह थे सैफ अली खान, पत्नी अमृता को गोली मारने वाला था शख्स, अकेले छोड़कर भाग गये

0
8

सैफ अली खान की इकलौती बेटी सारा अली खान को कहा जाता है, कि वो काफी बिंदास है, फिर चाहे वो किसी फिल्म में रोल प्ले कर रही हों, या फिर अपने पेरेंट्स के तलाक के बारे में बात कर रही हों।

New Delhi, Oct 10 : सैफ अली खान की गिनती उन स्टार्स में होती है, जो अपने डिफरेंट रोल के लिये जाने जाते हैं, हाल ही में उनकी फिल्म भूत पुलिस रिलीज हुई है, हालांकि ओटीटी पर रिलीज फिल्म को ज्यादा रिस्पॉन्स नहीं मिला, इस बीच सैफ से जुड़ा एक किस्सा वायरल हो रहा है, जिसे उनकी बेटी सारा अली खान ने सुनाया है, उन्होने बताया कि उनके पापा की वजह से एक बार उनकी मां अमृता सिंह को गोली लगते-लगते बची थी, और ये सब सैफ की लापरवाही की वजह से हुआ था।

सारा ने सुनाया किस्सा
सैफ अली खान की इकलौती बेटी सारा अली खान को कहा जाता है, कि वो काफी बिंदास है, फिर चाहे वो किसी फिल्म में रोल प्ले कर रही हों, या फिर अपने पेरेंट्स के तलाक के बारे में बात कर रही हों। Sara Bikini एक इंटरव्यू में सारा ने उस किस्से का जिक्र किया था, जब उनके पिता सैफ ने उनकी मां अमृता सिंह को एक कमरे में अकेला छोड़ दिया था, उन्हें करीब-करीब गोली लगने वाली थी।

प्रैंक की प्लानिंग
सारा ने चैट शो में किस्सा सुनाते हुए बताया था कि उनके पेरेंट्स ने अपनी एक कॉमन फ्रेंड नीलू मर्चेंट के साथ प्रैंक की प्लानिंग की थी, दोनों ने अपने चेहरे पर बूट पॉलिश लगाकर नीलू मर्चेंट को डराने का फैसला लिया था, लेकिन आखिरी समय में पापा ने दरवाजा खोला, मैं को कमरे में धकेल दिया और दरवाजा बंद कर भाग गये। जब पापा ने मम्मी को कमरे में अकेले धकेला, उस समय उनकी सहेली अपने पति के साथ आराम कर रही थी, अचानक हुई आवाज से सहेली के पति ने मां पर बंदूक तान दी थी, वो गोली चलाने ही वाले थे, मां ने तुरंत अपना नाम बताया और वो बच गई।

तलाक को लेकर बात
सारा अपने पेरेंट्स के तलाक को लेकर भी कई बार बात कर चुकी हैं, वो अपने पेरेंट्स के तलाक को एकदम सही मानती हैं, इतना ही नहीं उन्होने ये भी बताया था कि वो अपने मां-बाप के तलाक को लेकर काफी खुश भी थी। सारा ने इंटरव्यू में कहा था अगर आपको दो ऑप्शंस नजर आ रहे हैं, जहां कोई भी खुश नहीं हैं, तो उन्हें अलग हो जाना ही अच्छा है, उन्होने कहा कि अगर दो अलग अलग होने के बाद अपनी-अपनी जिंदगी में खुश हैं, तो इससे अच्छी बात क्या हो सकती है।